UP पंचायत चुनाव: उम्मीदवारों की पार्टियों पर नजर, RLD को मिल रहे बंपर आवेदन

Smart News Team, Last updated: Wed, 3rd Feb 2021, 11:41 PM IST
  • RLD नेताओं का मानना है कि किसान आंदोलन से अब जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायतों की सभी सीटों पर पार्टी के संभावित प्रत्याशियों ने दावेदारी पेश की है. RLD के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी वीडियो कांफ्रेंसिंग से मेरठ और सहारनपुर मंडल के सभी जिलों के तैयारियों का जायजा लेंगे.
RLD के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तैयारियों का जायजा लेंगे.

मेरठ- पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है. बीजेपी के बाद अब RLD में भी संभावित दावेदारों की संख्या बढ़ गई है. RLD नेताओं का मानना है कि किसान आंदोलन से अब जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायतों की सभी सीटों पर पार्टी के संभावित प्रत्याशियों ने दावेदारी पेश की है. RLD के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी वीडियो कांफ्रेंसिंग से मेरठ और सहारनपुर मंडल के सभी जिलों के तैयारियों का जायजा लेंगे.

बताते चलें कि मेरठ मंडल में परिसीमन के बाद 2196 ग्राम पंचायत, 28 हजार 802 पंचायतों के वार्ड, 3567 क्षेत्र पंचायत और 144 जिला पंचायत के वार्ड हैं. जबकि सहारनपुर मंडल में 1612 ग्राम पंचायत, 21 हजार 62 पंचायतों के वार्ड, 2755 क्षेत्र पंचायत और 111 जिला पंचायत के वार्ड हैं. इस तरह दोनों मंडलों के नौ जिलों में जिला पंचायत के 255 वार्ड, क्षेत्र पंचायत के 6322 पद, ग्राम पंचायत सदस्यों के 49 हजार 864 पद और ग्राम प्रधानों के 3808 पदों के लिए चुनाव होना है.

मेरठ: बेटे के नाम को लेकर दंपत्ति में हुआ झगड़ा, थाने पहुंचा मामला

RLD के क्षेत्रीय अध्यक्ष चौधरी यशवीर सिंह का कहना है कि पार्टी में पंचायतों को लेकर संभावित प्रत्याशियों की संख्या में अचानक तेजी आई है. वैसे रालोद ही सही मायने में किसानों की पार्टी है. यह किसान महापंचायत में सामने दिख रहा है। किसान रालोद के केवल एजेंडे में नहीं, गांवों में लोगों के बीच है. पंचायत चुनाव को लेकर यह साफ दिखने लगा है. वहीं रालोद के प्रदेश प्रवक्ता सुनील रोहटा का मानना है कि रालोद प्रारंभ से ही गांवों में अधिक सक्रिय थी, लेकिन एक सप्ताह में गांवों के किसानों के बीच पार्टी का ग्राफ तेजी से बढ़ा है.

मेरठ: परीक्षितगढ़ इलाके के जड़ौदा गांव में घुसा तेंदुआ, वन विभाग की टीम मौके पर

नगर निगम की लापरवाही से वीरनगर के लोग परेशान, बदबू के कारण सांस लेना हुआ मुश्किल

मेरठ: बजट के बीच पेपर मिलों पर गहराया अपना वजूद बचाने का संकट, की ये मांग

मेरठ: 4 फरवरी को चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव, रंगीन रोशनी से सजा शहीद स्मारक

200 करोड़ के फर्जी GST बिल काटे, 42 करोड़ की टैक्स चोरी, सीमेंट कारोबारी अरेस्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें