कोरोना महामारी के चलते इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर नहीं सजेंगी झांकियां

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 09:20 AM IST
  • कृष्ण जन्माष्टमी पर दूर से ही होंगे कान्हा के दर्शन घरों में ही परिवार के सदस्यों द्वारा कराई जा रही है झांकियां पंडालों में मनाए जाने वाला श्री कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार इस बार नहीं दिखेगा
प्रतीकात्मक तस्वीर 

मेरठ। कोरोना महामारी के चलते इस बार श्री कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार पर झांकियां नहीं सजेंगी. भगवान श्री कृष्ण के दर्शन करने वालों को भी इस बार चरण स्पर्श करने का सुख प्राप्त नहीं होगा.

साथ ही भगवान श्री कृष्ण के प्रतिमाओं को छूकर भी आशीर्वाद नहीं ले सकेंगे. श्रद्धालु दूर से ही भगवान श्री कृष्ण के दर्शन कर सकेंगे. इस दौरान श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. साथ ही सभी को मास्क लगाना भी अनिवार्य होगा.

कोरोना काल में जन्माष्टमी की तैयारियों पर भी विशेष असर देखने को मिला है. श्रद्धालु शारीरिक दूरी और सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए इस बार सिर्फ घर में कान्हा का दरबार सजा रहे हैं. घर परिवार के लोग ही घर में झांकी सजा रहे हैं.

इस बार मंदिरों व कालोनियों में झांकियां नहीं सजेंगी. शहर के मंदिरों में श्रद्धालु बाल गोपाल के दर्शन दूर से ही कर सकेंगे।

फूलों और लाइटों से होगी मंदिर की सजावट

डालमपाड़ा स्थित सत्यनारायण मंदिर के पुजारी राजीव गोयल ने बताया कि मंदिर में हर साल अलग-अलग रूपों में भगवान श्री कृष्ण की झांकी सजाई जाती है. लेकिन इस बार फूलों और लाइटों से सजावट की जाएगी.श्रद्धालु दूर से ही कान्हा के दर्शन कर सकेंगे.

सदर स्थित धानेश्वरनाथ मंदिर और लक्ष्मी नारायण मंदिर के पंडित जीवन शास्त्री ने बताया कि हर साल मंदिर में कान्हा की बाल लीलाओं की झांकी लगाई जाती हैं, लेकिन इस बार सामान्य सजावट के साथ कान्हा का अभिषेक, भोग और प्रसाद वितरण किया जाएगा।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें