मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड से लापता हुआ वृद्ध, बेटी ने सीएम योगी से लगाई गुहार

Smart News Team, Last updated: Sat, 8th May 2021, 3:01 PM IST
मेरठ के मेडिकल कॉलेज में कोविड वार्ड से एक कोरोना संक्रमित मरीज लापता हो गया है. जिसके बाद मरीज की बेटी ने अधिकारियों से इस मामले में शिकायत की है. साथ ही अपना वीडियो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजकर पिता की बरामदगी की मांग की है.
मेडिकल कॉलेज में कोविड वार्ड से एक वृद्ध मरीज लापता हो गया है.

मेरठ. जिले में मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में भर्ती 64 वर्षीय कोरोना संक्रमित बुजुर्ग संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गए है. गौरतलब है कि तीन मई से कर्मचारियों ने परिजनों को वृद्ध के बारे में कोई सूचना नहीं दी. इसके बाद शुक्रवार को परिजन मेडिकल कॉलेज में पहुंच गए. यहां पर उन्हें पता चला कि बुजुर्ग तो वार्ड में है ही नहीं. इसके बाद परिजनों ने सभी वार्डों में वृद्ध की तलाश की लेकिन उनका कहीं कोई पता नहीं चला. बुजुर्ग की बेटी ने इस संबंध में अफसरों और मुख्यमंत्री से पिता की बरामदगी की मांग की है.

जानकारी के अनुसार बरेली के रहने वाले 64 वर्षीय संतोष कुमार पुत्र सीताराम एमईएस से सेवानिवृत्त हैं। वे गाजियाबाद के राजनगर एक्टेंशन में अपनी बेटी शिखा और दामाद अंकित के साथ रहते हैं। शिखा ने बताया कि 21 अप्रैल को बाथरूम में गिर जाने के कारण उन्हें चोट लग गई थी. वे उन्हें गाजियाबाद के अस्पताल में ले गए तो वहां पर उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई थी. इसके बाद अस्पताल से उनको कोविड अस्पताल ले जाने को कह दिया गया.

खतरा! बच्चे होंगे कोरोना की तीसरी लहर का शिकार, जानें कैसे करें उनकी सुरक्षा

गाजियाबाद में जगह नहीं मिलने के कारण परिजन 21 अप्रैल को सुबह उन्हें मेडिकल कॉलेज ले आए और यहां कोविड वार्ड में भर्ती करा दिया.इसके बाद उनकी हालत जानने के लिए कोविड सेंटर का नंबर ले लिया.कर्मचारी तीन मई तक वृद्ध का हाल बताते रहे. तीन मई को बताया कि संतोष कुमार को आईसीटू वार्ड में रखा गया है. उनका ऑक्सीजन स्तर 92 है. इसके बाद परिजनों ने कोविड सेंटर से अपडेट पूछा तो सही जवाब नहीं दिया गया. कुछ देर में बात कीजिए, कहकर फोन काट दिया गया.

इसके बाद जब कई दिन से वृद्ध के बारे में कोई अपडेट नहीं मिला तो थक-हारकर परिजन शुक्रवार को मेरठ आ गए. यहां उन्होंने कोविड वार्ड प्रभारी धीरज बालियान को मामले की पूरी जानकारी दी. इसके बाद वृद्ध संतोष कुमार को वार्ड में तलाश गया, लेकिन वे नहीं मिले. बेटी शिखा ने बताया कि मां ऊषा कैंसर की मरीज हैं. उन्हें अगर पापा के बारे में बताया गया तो उनकी हालत खराब हो जाएगी. परिजनों ने इस संबंध में डीएम और एडीएम से शिकायत की है. शिखा ने अपना वीडियो मुख्यमंत्री को भेजकर पिता को बरामद कराने की मांग की है.

BJP नेता की बेटी के साथ सिपाहियों ने की छेड़छाड़! पुलिस ने दिया अलग बयान

इस मामले में मेडिकल कॉलेज के कोविड प्रभारी डॉ. धीरज बालियान का कहना है कि संतोष नाम के कई मरीज भर्ती रहे हैं. एक संतोष नाम की महिला मरीज की दो दिन पहले मौत हो चुकी है। कई बार मरीज खुद चले जाते हैं. हो सकता है कि संतोष कुमार खुद कहीं चले गए हों. सीसीटीवी कैमरों के जरिये उनकी जांच कराई जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें