सरकार ने शुरू की नई योजना, टीबी के मरीज की जानकारी देने पर मिलेगा इतने का इनाम

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Jul 2021, 6:55 PM IST
  • टीबी के मरीज की जानकारी देने पर सरकार देगी 500 रूपये.
  • देश को टीबी बीमारी मुक्त बनाने के लिए सरकार ने शुरू की नई योजना.
  • मरीजों को भी पोषण के लिए हर महीने दिए जायेंगे 500 रुपये.
  • लोगों ने जागरूकता फैलाने के लिए जिलों में जगह-जगह चलाए जा रहे हैं सरकार द्वारा अभियान.
सरकार ने शुरू की नई योजना, टीबी के मरीज की जानकारी देने पर मिलेगा इतने का इनाम

मेरठ. अब से टीबी के मरीज की जानकारी सरकार को देने वाले व्यक्ति को सरकार की तरफ से पूरे 500 रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. भारत को टीबी मुक्त देश बनाने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार ने यह योजना शुरू की है. जिसमें एक टीबी के मरीज की जानकारी सरकार तक पहुंचाने के लिए 500 रूपये सीधा बैंक में ट्रांसफर कर दिए जायेंगे. जानकारी मिलने पर मरीजों का इलाज कराया जायेगा और मरीज के पोषण के लिए भी सरकार की तरफ से मरीजों को हर महीने 500 रुपये दिए जायेंगे.

इस योजना के तहत कोई भी टीबी की मरीज की जानकारी सरकार तक पहुंचा सकता है. इसमें प्राइवेट डॉक्टर्स भी शामिल होंगे. उनके पास आने वाले टीबी के नए मरीजों की जानकारी वे विभाग तक पहुंचाएंगे जिसके बाद उन्हें भी योजना का लाभ दिया जाएगा. साथ ही संचारी और दस्तक अभियान के तहत आशाओं को भी नए मरीजों की जानकारी देने पर इस योजना का लाभ दिया जाएगा. मरीजों की सूचना मिलने के बाद उनकी लिस्ट तैयार को जायेगी जो टीबी की नए मरीज हैं और वे पहले से निक्षय पोर्टल पर दर्ज नहीं है तो मरीज को तुरंत रजिस्टर किया जाएगा.

योगी सरकार का फैसला- अब कभी भी इतनी छुट्टियां ले सकेंगे यूपी में शिक्षा मित्र

देश को टीबी को बीमारी से मुक्त करने के लिए सरकार कई प्रयास कर रही है. जिलों में जगह-जगह पर जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं जिनमें लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि टीबी की बीमारी को न छिपाएं. साथ ही बताया जाता है कि मरीजों के इलाज में गोपनीयता बरती जाती है. अगर लक्षणों के बावजूद कोई व्यक्ति बीमारी छुपाता है तो इससे अन्य लोगों में बीमारी फैलने का खतरा काफी बढ़ जाता है. चूंकि लोग खुद से यह बीमारी बताने में संकोच करते हैं इसलिए सरकार ने 500 की प्रोत्साहन राशि देने के जरिए यह योजना लागू की है जिससे मरीजों का पता चल सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें