PM नरेंद्र मीदी के कार्यक्रम ‘मन की बात’ की किताब जल्द डिजिटल लाइब्रेरी में उपलब्ध होगी

Anurag Gupta1, Last updated: Fri, 10th Dec 2021, 1:14 PM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम मन की बात की किताब अब डिजिटल लाइब्रेरी में भी मिलेगी. मेरठ चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी (सीसीएसयू) कैंपस स्थित राजा महेंद्र प्रताप पुस्तकालय में अपलोड किया जाएगा. मन की बात कार्यक्रम में विभिन्न पहलुओं पर बोली गई बातों से युवा रूबरू होंगे.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

मेरठ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम मन की बात को लोग खूब पसंद करते हैं. जबसे ये कार्यक्रम शुरू हुआ है तब से अपनी लोकप्रियता बनाए हुआ है. अब ये कार्यक्रम किताबों के साथ-साथ जल्द ही डिजिटल लाइब्रेरी के माध्यम से भी युवाओं को पढ़ने के लिए मिलेगा. जिसके लिए चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी (सीसीएसयू) कैंपस स्थित राजा महेंद्र प्रताप पुस्तकालय में टीम द्वारा ऑनलाइन अपलोड करने के लिए कार्य किया जा रहा है.ताकि युवा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम में बताए गए विभिन्न पहलुओं का अध्ययन कर सकें. जिन हर उस पहलु को लिखा जाएगा जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यक्रम में बोला है.

शिक्षा विभाग को CM योगी की बड़ी राहत, इन कर्मचारियों के आश्रित को मिलेगी मनचाही नियुक्ति

अभी तक पुस्तकालय पर उपलब्ध थी:

अभी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम मन की बात की पुस्तिका सिर्फ बुक बेचने वाली दुकान पर ही मिलती थी. लेकिन जल्द ही ये चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी (सीसीएसयू) कैंपस स्थित राजा महेंद्र प्रताप पुस्तकालय व सीसीएसयू की मुख्य वेबसाइट पर लाइब्रेरी ऑप्शन में मिलेगी.

कुछ ऐसी बातें हैं जिनसे लोग जुड़े हुए हैं:

डॉ जमाल अहमद सिद्दीकी विश्वविद्यालय लाइब्रेरी अध्यक्ष ने बताया कि पीएम मोदी के मन की बात में कुछ ऐसा जिक्र है जिससे युवओं को प्रेरणा मिलेगी और लोग उन बातों से जुड़े हुए हैं लेकिन उन बातों का जिक्र कहीं भी नहीं है इसीलिए किताब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर पीडीएफ उपलब्ध कराई जाएगी.

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री है जिनका कार्यक्म मन की बात का प्रसारण लगातार होता आ रहा है. वो हर पहलुओँ पर चर्चा करते है और समाज की बेहतरी के लिए बात करते है. वो लोगों प्रेरणा स्रोत हैं. सरकार व्दारा चलाई गई योजना पर भी बात करते हैं साथ ही लाभार्थिंयों से भी रूबरू होते हैं. समाज में बेहतर कार्य करने वाले लोगों की प्रेरक कहानी भी सांझा करते हैं. इसी कारण से ये किताब और डिजिटल लाइब्रेरी के माध्यम से ये पहल की जा रही है छात्र उनकी बातों को ग्रहण कर पाए. छात्र पीएम की मन की बात किताब पढने आते है लेकिन कमी के चलते सब तक पहुंच नहीं पा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें