महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे शिवपाल यादव के प्रसपा नेताओं की गिरफ्तारी

Smart News Team, Last updated: 22/02/2021 11:57 PM IST
  • सोमवार को मंहगाई के खिलाफ प्रदर्शन करते प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. ये सभी प्रदर्शनकारी जिलाधिकारी को ज्ञापन देने जा रहे थे. जहां पुलिस ने इन्हें रास्ते में ही रोक लिया.
महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे शिवपाल यादव के प्रसपा नेताओं की गिरफ्तारी

मेरठ: सोमवार को मेरठ में मंहगाई के खिलाफ प्रदर्शन करने जा रहे शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. ये विरोध प्रदर्शन पेट्रोल, डीजल समेत कई अन्य चीजों के मूल्यों की वृद्धि पर किया जा रहा था. जिसे रोकने के लिए पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने कहा कि आवाज उठाने का अधिकार हमें संविधान देता है और पुलिस हमारे अधिकारों का ऐसे हनन नहीं कर सकती है. इसके अलावा प्रसपा नेता जीशान खान ने पुलिस पर अभद्रता करने व धमकियां देने के भी आरोप लगाये है.

पेट्रोल डीजल की बढ़ी हुई कीमतों एवं बढ़ती महंगाई को लेकर प्रसपा के कार्यकर्ता व नेता विरोध करने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय जा रहे थे. जहां इस विरोध के लिए प्रदर्शनकारी जिलाधिकारी को ज्ञापन देने जा रहे थे. वहीं रास्ते में पुलिस ने कार्यकर्ताओं एवं प्रदर्शनकारियों को रोक लिया. जिसके बाद सभी को हिरासत में ले लिया. पुलिस ने इन सभी प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तारी के बाद अलग-अलग थाने में बंद कर दिया.

मेरठवासियों के लिए खुशखबरी, सलावा और कैली गांव की जमीन पर बनेगा खेल यूनिवर्सिटी

इस पूरी घटना को लेकर प्रसपा नेता जीशान खान और शैंकी वर्मा का कहना है कि पुलिस भाजपा की एंजेट बनकर अपना काम कर रही है, यह एक निंदनीय बात है. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि इस प्रदेश सरकार के राज में गलत के खिलाफ आवाज उठाना भी जुर्म हो गया है. हमें गलत के खिलाफ आवाज उठाने से रोका जा रहा है.

यूपी बजट: विपक्ष हमलावर मायावाती ने अति-निराश तो अखिलेश ने सभी के साथ धोखा बताया

वहीं सरदार जीतू नागपाल का कहना है कि अपनी आवाज उठाने का अधिकार हमें संविधान देता है. पुलिस हमसे इस अधिकार को छीन नहीं सकती है. जीशान खान का यह भी कहना है कि गिरफ्तारी के वक्त पुलिस प्रदर्शनकारियों को धमकियां दे रही थी. इसके साथ ही सभी के साथ पुलिस ने अभद्र व्यवहार भी किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें