जहरीली शराब से 10 लोगों की मौत के मामले में बड़ा खुलासा, 4 लोग शराब से मरे बाकी…

Smart News Team, Last updated: 01/05/2021 03:46 PM IST
मेरठ शराब कांड में 10 लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस के अनुसार चार लोगों की मौत शराब से हुई थी जबकि 6 लोगों की मौत बीमारी की वजह से हुई है. इस मामले में पुलिस आगे की कार्रवाई के लिए जांच में जुटी हुई है.
मेरठ शराब कांड में 10 लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है.

मेरठ. इंचौली के साधारणपुर गांव में पंचायत चुनाव के दौरान बांटी गई शराब पीने से 10 लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है. दरसअल, पुलिस जांच के बाद यह दावा कर रही है कि 4 लोगों की मौत शराब पीने से हुई है. बाकी अन्य 6 लोग बीमारी से मरे हैं.

आपको बता दें कि मतदान से दो दिन पहले 24 अप्रैल की रात में साधारणपुर गांव में दो प्रधान पद प्रत्याशी संजय कुमार और महाराज सिंह ने शराब बांटी थी.इसके बाद आरोप लगाया कि शराब पीने से 10 लोगों की मौत हो गई. पुलिस ने संजय और महाराज सिंह को गिरफ्तार कर हत्या के आरोप में जेल भेज दिया. इसके अलावा शराब दुकान को भी सील कर दिया जहां से शराब खरीदी गई थी.इस मामले में शराब सप्लाई करने वाला दिल्ली पुलिस का सिपाही कपिल उर्फ बॉबी अभी भी फरार है. गौरतलब है कि विवेचना में कुछ अन्य लोगों के नाम भी सामने आए हैं जो शराब तस्करी में शामिल थे. उन्हें भी पुलिस जल्द ही विवेचना का हिस्सा बनाएगी.

जहरीली शराब से 10 मौतों के मामले में 2 प्रधान प्रत्याशियों सहित 3 पर केस दर्ज

एसओ अंकित कुमार ने बताया कि पुलिस की अभी तक की जांच में सामने आया कि चार लोगों की शराब में रस और नशीली गोलियां मिलाकर पिलाने से मौत हुई है जबकि 6 लोगों की मौत बीमारी से हुई है. साथ ही पुलिस ने अस्पताल से इलाज कराकर घर लौटे दो व्यक्तियों के भी बयान दर्ज किए हैं. एसओ के अनुसार दोनों ने बताया कि प्रधान संजय और महाराज सिंह ने घर बुलाकर शराब में रस और नशीली गोलियां डालकर पिला दी थीं. अस्पताल पहुंचने के बाद ही वे होश में आए थे.

इस मामले में एसपी देहात केशव कुमार का कहना है कि साधारणपुर गांव में शराब पीने से हुई मौतों की विवेचना जारी है. पुलिस ने घटना के चश्मदीद दो लोगों के बयान दर्ज किए है, जो उपचार के बाद अस्पताल से घर लौटे हैं. शराब की सप्लाई देने वाले कपिल की गिरफ्तारी के लिए एक टीम दिल्ली भेजी है. कपिल की गिरफ्तारी के बाद पता चलेगा कि नशे की गोलियां कहां से खरीदकर लाता था.

LLRM मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टर और सफाईकर्मियों में मारपीट, दो मरीज की मौत

इधर दिल्ली पुलिस के सिपाही कपिल उर्फ बॉबी की गिरफ्तारी के लिए इंचौली पुलिस ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है. बताया जा रहा है कि कपिल दिल्ली में अपने एक रिश्तेदार के यहां छिपा है. उसके खिलाफ कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस को पत्र भेजा है. एसओ ने यह भी बताया कि चुनाव के दौरान कपिल छुट्टी पर आया था जो प्रत्याशियों को शराब और नशे की गोलियां सप्लाई कर रहा था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें