मेरठ में प्रिंटिंग प्रेस सील, गजरौला में किताबों की गिनती और बड़ौत में जांच जारी

Smart News Team, Last updated: 24/08/2020 08:11 AM IST
  • नकली एनसीईआरटी किताबों के पकड़े जाने के बाद मेरठ में प्रिंटिंग प्रेस सील कर दी गई है. वहीं गजरौला में पकड़ी गईं किताबों की गिनती जारी है. दूसरी तरफ बड़ौत में किताबों की जांच बारीकी से की जा रही है. पुलिस विक्रेताओं के घर में भी छापेमारी कर रही है.
छापेमारी के दौरान पुलिस वालों ने स्टॉक चेक किया और एनसीईआरटी की कुछ किताबें जब्त कीं. 

मेरठ. मेरठ में एनसीईआरटी की नकली किताबें पकड़े जाने के बाद प्रिंटिंग प्रेस को सील कर दिया गया है. एनसीईआरटी की नकली किताब लगभग 70 करोड़ रुपये की बताई जा रही हैं. रविवार को पुलिस ने टीपीनगर थाना क्षेत्र के मोहकमपुर में टीएनएचके प्रिंटर एंड पब्लिकेशन को सील कर दिया. पुलिस की एक अन्य टीम ने गजरौला में छापेमारी की. गजरौला गई पुलिस की टीम ने छापेमारी के बाद जब्त किताबों और अन्य सामान की गिनती जारी कर दी है. 

आस-पास के इलाकों में भी पुलिस छापेमारी कर रही है. वहीं मेरठ में पकड़ी गई किताबों के विक्रेताओं के दुकानों और घरों पर भी छापेमारी हो रही है. बड़ौत की पुलिस भी अलर्ट हो गई है. इस मामले में रविवार के देर शाम बड़ौत के एसडीएम व कोतवाली प्रभारी ने नगर की गांधी रोड पर एक बुक विक्रेता के मकान पर छापा मारा. उन्होंने वहां कई किताबें कब्जे में लीं.

70 करोड़ पहुंची डुप्लीकेट NCERT किताबों की वैल्यू, BJP नेता की तलाश में छापे

केवल बड़ौत ही नहीं बल्कि बागपत पुलिस भी हरकत में आ गई है. उन्होंने बागपत के बुक विक्रेताओं की जानकारी जुटाई है. नगर की गांधी रॉड स्थित नगर के एक नामी पुस्तक विक्रेता के मकान पर एसडीएम दुर्गेश मिश्र, सीओ आलोक सिंह व कोतवाली प्रभारी अजय शर्मा की टीम ने छापा मारा. छापे मारी की सूचना से अन्य बुक विक्रेताओं में भी हड़कंप मच गया. 

मेरठ NCERT नकली किताब केस में आरोपी संजीव गुप्ता को बीजेपी ने किया निलंबित

पुलिस ने बुक विक्रेता से काफी देर तक पूछताछ की और उसका स्टॉक चैक किया. किताबों के बिल देखे और प्रकाशन की जांच हुई. कुछ किताबों के बिल नहीं मिले. पुलिस ने एनसीआरटी की कई पुस्तकों को कब्जे में लिया. एसडीएम दुर्गेश मिश्र ने बताया कि जांच चल रही. गौरतलब हो की इस मामले में भाजपा नेता संजीव गुप्ता, उसका भतीजा समेत चार आरोपी फरार चल रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें