CBSE First Term Exam: MCQ होंगे प्रश्न, आंसर गलत होने पर नहीं होगी नेगेटिव मार्किग

ABHINAV AZAD, Last updated: Sat, 16th Oct 2021, 12:06 PM IST
  • सीबीएसई टर्म-वन एग्जाम में MCQ प्रश्न होंगे. साथ ही आंसर गलत होने पर निगेटिव मार्किग नहीं होगी. जबकि सीबीएसई को इस बात का फैसला लेना है कि एग्जाम सेंटर बनेंगे या सेल्फ सेंटर होंगे.
(प्रतीकात्मक फोटो)

मेरठ. सीबीएसई टर्म-वन एग्जाम ऑफलाइन स्कूल में ही कर रहा है. हालांकि, सीबीएसई को इस बात का फैसला लेना है कि एग्जाम सेंटर बनेंगे या सेल्फ सेंटर होंगे. ऐसा माना जा रहा है कि अगर कोरोना से स्थिति बेहतर हुई तो एग्जाम ऑफलाइन ही होंगे. साथ ही इस बार एग्जाम मल्टीपल च्वॉइस यानि बहुविकल्पीय होंगे. परीक्षा में गलत आंसर देने पर कोई निगेटिव मार्किग नहीं होगी. जबकि इसके अलावा स्टेप मार्किग भी नहीं होगी. प्रत्येक प्रश्न के एक या डेढ़ अंक के होंगे. साथ ही आंसर देने के लिए एक-डेढ़ मिनट मिलेंगे.

मेरठ स्कूल सहोदय काम्प्लेक्स के सचिव राहुल केसरवानी के मुताबिक, ज्यादातर स्कूलों ने छमाही परीक्षाएं आयोजित करा ली हैं. नवंबर मध्य से अब परीक्षा शुरू हो सकती है. उन्होंने कहा कि दशहरा और दीपावली के बीच ज्यादा समय नहीं बचा है. ऐसे में कुछ स्कूल रिवीजन टेस्ट करा सकते हैं लेकिन फोकस परीक्षार्थियों को रिवीजन कराने पर ज्यादा है. साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ स्कूल अपनी सुविधा के अनुसार प्री-बोर्ड भी करा रहे हैं.

Delhi-NCR 2041 का रोडमैप तैयार, हेलीटैक्सी सेवा की होगी शुरुआत, मिनटों में पहुंचेंगे दिल्ली और हरियाणा

सीबीएसई सिटी कोआर्डिनेटर व केएल इंटरनेशनल स्कूल के प्रिंसिपल सुधांशु शेखर के मुताबिक, इस वक्त ज्यादातर स्कूल बोर्ड आधारित एमसीक्यू और ओएमआर से प्रैक्टिस पेपर करा रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह सभी टेस्ट ऑफलाइन हो रहे हैं, जिसमें बच्चे हिस्सा ले रहे हैं. ऐसा माना जा रहा है कि नवंबर के पहले सप्ताह में प्री-बोर्ड होंगे. जबकि उसके तकरीबन दस दिन बाद टर्म-वन एग्जाम भी होगा. उन्होंने आगे कहा कि टर्म-वन के लिए सीबीएसई परीक्षा केंद्र बनाएगा या सेल्फ सेंटर होंगे, इस पर एक सप्ताह में होने वाली सिटी कोआर्डिनेटर्स की बैठक में निर्णय लिया जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें