जाली किताबों समेत अन्य मांगों को लेकर रालोद ने किया मेरठ कमिश्नरी पर प्रदर्शन

Smart News Team, Last updated: 25/08/2020 03:17 PM IST
  • 22 अगस्त को मेरठ पुलिस ने मिलिट्री इंटेलिजेंस और स्पेशल टास्क फोर्स  के साथ मिलकर मेरठ की एक पेंटिंग प्रेस में एनसीईआरटी की अवैध किताबें जप्त की थी। मंगलवार को राष्ट्रीय लोक दल ने जाली किताबों के आरोपियों पर उचित कार्रवाई सहित अनेक मांगों के लिए मेरठ कमिश्नरी पर प्रदर्शन किया।
मंगलवार को कमिश्नरी पर राष्ट्रीय लोक दल के मेरठ जिलाध्यक्ष राहुल प्रमुख के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया.

 मेरठ. मंगलवार को राष्ट्रीय लोक दल ने एनसीईआरटी की जाली किताबों को लेकर आयुक्त, मेरठ मंडल के सामने प्रदर्शन किया. रालोद जिलाध्यक्ष राहुल प्रमुख के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ता मौजूद थे.

रालोद नेताओं का कहना है कि एनसीईआरटी की जाली किताबों को लेकर पुलिस और प्रशासन दोनों ही उदासीन बने हुए हैं. बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. मेरठ कमिश्नरी में हुए जाली किताबों के लिए प्रदर्शन के साथ ही , रालोद द्वारा गन्ना बकाया भुगतान, खाद बीज की कालाबाजारी रोकने की मांग और हस्तिनापुर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाने की भी मांग रखी गई.

मेरठ NCERT नकली किताब केस: कांग्रेस ने की CBI जांच की मांग, कमिश्नरी पर प्रदर्शन

रालोद जिलाध्यक्ष राहुल प्रमुख ने कहा कि प्रशासन इन मांगों पर जल्द से जल्द कार्रवाई करें. अन्यथा पार्टी आंदोलन के लिए बाध्य होगी और बड़े स्तर पर आंदोलन करेगी.राष्ट्रीय लोक दल के इस प्रदर्शन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मंत्री मेराजुद्दीन सहित कई नेता और कार्यकर्ता शामिल रहे.

मेरठ: सिटी डाकघर में दोबारा मिले दो कर्मचारी कोरोना संक्रमित, फिर मचा हड़कंप

गौरतलब है कि मेरठ के परतापुर थाना क्षेत्र में अवैध तरीके से एनसीईआरटी की किताबों को छापा जा रहा था. बताया जा रहा था कि मेरठ से इन किताबों की सप्लाई कईं दूसरे राज्यों जैसे उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान में हो रही थी. इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के भी कई जिलों में भी ये किताबें भेजी जा रही थीं.

 

इसके बाद 22 अगस्त को मेरठ पुलिस ने मिलिट्री इंटेलिजेंस (एमआई) और स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के साथ मिलकर मेरठ की एक प्रिंटिंग प्रेस में छापी जा रही अवैध एनसीईआरटी की किताबें जप्त की थीं। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने 6 प्रिंटिंग मशीन ज़ब्त की और एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया। किताबों की कीमत 35 करोड़ से भी ज्यादा है। पुलिस आरोपियों को हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ कर रही है. इस मामले में मुख्य आरोपी सचिन गुप्ता की तलाश में मेरठ पुलिस और एसटीएफ की टीमें छापेमारी कर रही हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें