हजारों किलोमीटर उड़कर हस्तिनापुर पहुंचे साइबेरियन पक्षी, गुलजार हुआ वाइल्डलाइफ सेंक्चुरी

Nawab Ali, Last updated: Sat, 6th Nov 2021, 1:25 PM IST
  • साइबेरिया से हजारों किलोमीटर का सफर तय कर मेरठ के हस्तिनापुर पहुंचे विदेशी पक्षियों से वाइल्डलाइफ सेंक्चुरी गुलजार हो उठी. लोग दूर-दूर से इन खूबसूरत पक्षियों को देखने के लिए हस्तिनापुर का रुख कर रहे हैं.  
साइबेरिया से हजारों किलोमीटर का सफर तय कर हस्तिनापुर पहुंचे विदेशी पक्षी. फोटो सोशल मीडिया

मेरठ. उत्तर प्रदेश के हस्तिनापुर वाइल्डलाइफ सेंक्चुरी इन दिनों लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. सात समंदर पार से हजारों किलोमीटरउड़कर विदेशी परिंदों का झुंड भिकुंड वेटलैंड पहुंच गया है. इन परिंदों की की चहचाहट से लोगों का मन चहक उठा. लोग दूर दूर से इन्हें देखने के लिए हस्तिनापुर आ रहे हैं. यें परिंदे हर साल चार महीने के लिए साइबेरिया, मंगोलिया, चीन, अफ्रीका समेत कई देशों से हस्तिनापुर पहुंच रहे हैं. 

उत्तरी गोलार्ध में सितंबर के महीने से ही भारी बर्फबारी शुरू हो जाती है जिस वजह से परिंदे भारत का रुख करते हैं. मात्र 10 से 12 दिन में ही ये पक्षी लगभग 35 हजार किलोमीटर का सफर तय कर लेते हैं. मौसम को भांप कर ये परिंदे अपने लिए अनुकूलित जगह ढूंडने के लिए पलायन के लिए निकलते हैं. भारत में इन पक्षियों को उत्तरी गोलार्ध के मुकाबले बेहतर मौसम मिलता है जिस वजह से ये यहां का रुख करते हैं. इन दिनों पर्यटक भी दूर-दूर से इन्हें देखने के लिए हस्तिनापुर पहुंचते हैं. 

CM योगी का बड़ा फैसला, 1 करोड़ 80 लाख छात्रों के अकाउंट में आएंगे 11-11 सौ रूपये

डीएफओ राजेश कुमार का कहना है कि यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि हजारों किलोमीटर का सफर तय करने के बाद ये पक्षी भारत में आते हैं. हर साल बड़ी संख्या में पक्षी बर्फीले इलाकों से पलायन कर भारत में आते हैं लेकिन इस बार उम्मीद की जा रही है कि ज्यादा तादाद में चिड़िया भारत पहुंचेंगी.उनका कहना है कि इन पक्षियों  को देखकर हर किसी का मन खुशी से झूम उठता है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें