मेरठ: गंगा में डॉल्फिन की गिनती के लिए गई टीम, खूबसूरत नजारें देख रह गई हैरान

Smart News Team, Last updated: 09/10/2020 02:17 PM IST
  • मेरी गंगा मेरी डॉल्फिन अभियान के तहत गंगा में डॉल्फिन की गिनती का काम जारी है. उम्मीद जताई जा रही है कि ये काम शनिवार को पूरा हो जाएगा. 
गंगा डॉल्फिन की गिनती के लिए गई टीम के कैमरे में कैद हुआ एक घड़ियाल

मेरठ: शहर में गंगा किनारे ‘मेरा गंगा मेरी डॉल्फिन’ अभियान के तहत गंगा में चल रहा डॉल्फिन की गिनती का काम लगातार चौथे दिन भी जारी रहा. इस दौरान डॉल्फिनों की गिनती कर रही टीम को अटखेलियां करती डाल्फिनों के बहुत से खूबसूरत नजारें दिखाई दिए. जिसे देखकर टीम खुद हैरत में पड़ गई. चित्रित सारस का बड़ा झुंड दिखाई दिया. जिन्हें टीम ने अपने कैमरों में कैद दिया.

जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को भी गंगा में डॉल्फिन गिनती कार्य में डब्ल्यूडब्ल्यूएफ-इंडिया से संजीव कुमार यादव, मोहम्मद शाहनवाज खान, हिमांशु शर्मा, रामअवतार, ऋतु, तेजपाल, भानुप्रताप, गंगा प्रहरी श्योराज सिंह, वन विभाग से धर्मवीर, संसार सिंह धामा, अतुल दुबे शामिल रहे. बता दें कि कल गंगा में डॉल्फिन की गिनती का काम सरजपुर से कुंडा 31 किमी तक किया गया था. इस दौरान 13 डॉल्फिन दिखी थीं. इनमें दो शावक (बच्चे) भी शामिल थे. इसके साथ ही हस्तिनापुर स्थित प्रशिक्षण केंद्र, सिरजेपुर और मखदूपुर गांवों के 100 से अधिक स्थानीय लोगों को डॉल्फिन के बारे में जानकारी दी गई. साथ ही उनके संरक्षण को प्रेरित किया.

आर्थिक तंगी के कारण सब्जी बेच रहे थे नेशनल खिलाड़ी, सरकार ने की मदद

गिनती में लगी टीम ने कई दिलचस्प नजारों को देखा और अपने कैमरों में कैद किया. इनमें चित्रित सारस का बड़ा झुंड, भारतीय स्कीमर्स और ब्लैक-बेल्ड टर्न का एक बड़ा झुंड शामिल है. बताया जा रहा है कि दो वयस्क आकार वाले और छह उप वयस्क घड़ियाल भी देखे गए हैं. डीएफओ अदिति शर्मा का कहना है कि कल गिनती का कार्य पूरा हो जाएगा. इसके बाद पूरी रिपोर्ट जारी की जाएगी. उनका कहना है कि गंगा में डॉल्फिन खूब पल-बढ़ रही है. पिछले साल 35 डॉल्फिन मिली थीं. इस बार भी उम्मीद जताई जा रही है कि संख्या बढ़ी मिलेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें