असम से युवती हुई किडनैप, दिल्ली में खरीदी गई, मेरठ में करवाने लाए ऐसा काम

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 09:13 AM IST
  • मेरठ में देह व्यापार चलाने वाली आरोपी महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सोमवार को पुलिस को सूचना मिली कि पांच दिन पहले एक किशोरी को मेरठ लाया गया है जिसे जबरन देह व्यापार में ढकेला जा रहा है. रेस्क्यू ऑपरेशन और एएचटीयू की मदद से किशोरी को बरामद किया गया.
असम की युवती को किडनैप कर दिल्ली में बेचा.

मेरठ. मेरठ की महिला ने असम की किशोरी को दिल्ली से खरीदाकर देह व्यापार में धकेल दिया. मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन नामक एनजीओ और एएचटीयू ने मिलकर किशोरी को बरामद किया. आरोपी महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पूछताछ में पता चला कि किशोरी का असम से अपहरण किया और पांच दिन पहले दिल्ली लाकर बेच दिया गया. पुलिस मामले की पूछताछ के लिए आरोपी महिला के फोन डिटेल्स को खंगाल रही है.

मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन के राजेंद्र सिंह और उनकी टीम को जानकारी मिली की मेरठ की निवासी शकीला ह्यूमन ट्रेफिकिंग और देह व्यापार के धंधे में लगी हुई है. वहीं यह भी सूचना मिली कि किसी किशोरी को पांच दिन पहले ही मेरठ लेकर आई है. 

एनजीओ के ही एक सदस्य ने ग्राहक बनकर फोन किया तो शकीला ने किशोरी के बदले में 35 सौ रुपए मांगे. शकीला ने सोमवार को तीन बार मिलने की जगह बदली जिससे वह पकड़ में ना आए. जैसे ही शकीला ने सेंट्रल मार्केट में मिलने की शाम का समय दिया तभी वहां घेराबंदी कर दी गई. शाम को शकीला को किशोरी के साथ पकड़ लिया गया और असम पुलिस को भी सूचित कर दिया गया. 

अधेड़ उम्र के आशिक को अवैध संबंध की मिली खौफनाक सजा, हिरासत में प्रेमिका

राजेंद्र कुमार ने कहा कि शकीला बिहार की निवासी है लेकिन वह असम, बंगाल और बिहार की लड़कियों को दिल्ली और वेस्ट यूपी में सप्लाई करती है. पहले भी शकीला को पकड़ने का प्रयास किया गया था लेकिन वह पकड़ में नहीं आई. आरोपी महिला से पूछताछ में पता चला कि कबाड़ी बाजार बंद होने के बाद आसपास की कॉलोनियों और शहर के कुछ होटलों में देह व्यापार को शिफ्ट कर दिया गया है. 

घर जमाई बना हत्यारा, पत्नी और सास को बेरहमी से मार डाला

दिल्ली में किशोरी किसी पूनम नाम की महिला से लाई गई थी. 25 हजार में पूनम ने किशोरी को बेचा था. मिली जानकारी के अनुसार दो दर्जन से ज्यादा लोगों का गिरोह देह व्यापार में सक्रिय है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें