किराएदार केस हारने पर भी नहीं कर रहा था खाली, डिप्रेशन में मकान मालिक की मौत

Smart News Team, Last updated: Thu, 12th Nov 2020, 9:09 PM IST
  • मेरठ से हाल ही में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां पर एक किराएदार की दबंगई से परेशान होकर मकान मालिक की डिप्रेशन में आकर मौत हो गई.
डिप्रेशन में आकर मकान मालिक की मौत

मेरठ.मेरठ से हाल ही में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां पर एक किराएदार की दबंगई से परेशान होकर मकान मालिक की डिप्रेशन में आकर मौत हो गई. इसके बाद परिवार के लोगों ने किराएदार के खिलाफ कार्रवाई ना होने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया. दरअसल, लक्ष्मणपुरी गली नंबर चार निवासी रामकृपाल कपड़ों का कारोबार करते थे, रामकृपाल ने अपने कर्मचारी नरेश को अपने मकान में किराए पर रख लिया था. आरोप है कि नरेश ने फर्जी दस्तावेज बनवा कर मकान पर कब्जे का प्रयास शुरू कर दिया. इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच कोर्ट में मुकदमेबाजी हुई. क्षेत्रीय पार्षद राजकुमार के अनुसार, रामकृपाल दो बार कोर्ट से मुकदमा जीते. इसके बावजूद किराएदार नरेश दबंगई पर उतारू था और मकान खाली नहीं कर रहा था.

मेरठ: शहर में गद्दा बनाने वाली फैक्ट्री में आग, ढ़ाई साल की बच्ची की मौत

इसी डिप्रेशन में आकर बुधवार को रामकृपाल की मौत हो गई. इसके बाद परिवार के लोगों ने मकान खाली ना होने तक मृतक के शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया. इस मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने परिजनों को समझाते हुए जैसे-तैसे शव का अंतिम संस्कार कराया. सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय ने प्रकरण को कोर्ट से जुड़ा बताते हुए इस मामले में कोई तहरीर मिलने के बाद कार्रवाई की बात कही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें