सुभारती विश्वविद्यालय में मिले धमकी भरे पत्र का बिहार से तो नही कनेक्शन

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 02:51 PM IST
  • मेरठ के सुभारती विश्वविद्यालय में खड़ी लावारिस ओला कैब में अमित भूरा के नाम से मिले धमकी भरे पत्र मामले की जांच चल रही हैं। पुलिस को हिरासत में लिए गए कार चालक से पूछताछ के दौरान पता चला हैं कि की ओला कैब को बिहार के युवक ने किराये लर ले रखा था। जिसके चलते पुलिस की टीम बिहार के लिए रवाना हो गई हैं।
वारिस ओला कैब में अमित भूरा के नाम से मिले धमकी भरे पत्र

मेरठ। सुभारती विश्वविद्यालय परिसर में लावारिस गाड़ी में अमित मलिक उर्फ़ भूरा के नाम से मांगी गई रंगदारी पत्र की गुत्थी पुलिस एक महीने बाद भी नही सुलझा पाई हैं। और इस धमकी भरे पत्र मामले का कनेक्शन बिहार से जुड़ता दिख रहा हैं। जहां हिरासत में लिए कार चालक से पुलिस को पता चला हैं कि बिहार के रहने वाले एक युवक ने ओला कार को बुक किया था। वही युवक की गिरफ्तारी के लिए मेरठ से एक टीम बिहार के लिए रवाना हो गई। वही रंगदारी मामले में अमित भूरा के खिलाफ जानी थाने में मुकदमा दर्ज है। अमित भूरा तिहाड़ जेल में बंद वेस्ट यूपी के कुख्यात सुनील राठी गिरोह का शार्प शूटर हैं।

ओला की लावारिस गाड़ी में मिला था धमकी भरा पत्र,

दरअसल 5 जुलाई 2020 को सुभारती विश्वविद्यालय में लवारिस हालत में खड़ी ओला कैब में वेस्ट यूपी के कुख्यात सुनील राठी गिरोह के शार्प शूटर अमित मलिक उर्फ भूरा के नाम से धमकी भरा पत्र मिला था। जिसमे सुभारती के ट्रस्टी अतुल कृष्ण भटनागर से मेडिकल और रसोई के सभी ठेके अपने लोगो के नाम देने के लिए कहा गया था।और ना देने पर अंजाम भुगतने की धमकी तक दी गई थी। जिसके बाद से धमकी भरे पत्र की जांच चक रही थी। जिसके बाद सोमवार को गार्ड योगेंद्र की तहरीर पर जानी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया हैं।

हिरासत में लिए गए चालक से पूछताछ रही बेअसर

वही धमकी भरे पत्र मामले में जिस ओला कैब का इस्तेमाल किया गया था, उसे बिहार के रहने वाले एक युवक ने किराये लर लिया था। जिसने दिल्ली के प्रहलादनगर निवासी अंकुर नाम के युवक को ड्राइवर रखा था। और उस गाड़ी को अंकुर ही चलाया करता था। वही इस घटना के बाद से ही अंकुर का मोबाईल भी बंद था। जिसके चलते पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया हालाकि अभी तक पुलिस उससे कुछ नही जान पाई है। वही एएसपी अजय साहनी के मुताबिक पूरे मामले की जांच चल रही है, और जल्द ही घटना का राजफाश किया जाएगा। फिलहाल ओला कैब किराये पर लेने वाले युवक की गिरफ्तारी के लिए एक टीम बिहार रवाना कर दी गई हैं।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें