कृषि मंत्री ने दिलाया भरोसा, फिर नहीं लाए जाएंगे रद्द किए गए तीनों कानून

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 26th Dec 2021, 4:20 PM IST
  • तीनों कृषि कानून को वापस लागू करने के कयासों पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने विराम लगा दिया है. एक कार्यक्रम में कृषि कानून को लेकर नरेंद्र तोमर ने कहा कि सरकार द्वारा हाल में ही निरस्त किए गए कृषि कानूनों को वापस लाने की कोई योजना नहीं है. उन्होंने भ्रम से सावधान रहने का आग्रह किया.
कृषि कानून पर मंत्री नरेंद्र तोमर का बयान, बोले- निरस्त कानूनों को वापस लाने की नहीं योजना

मेरठ. काफी विवाद और लंबे आंदोलन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि कानूनों को वापस ले लिया लेकिन अभी लोगों में कानूनों को वापस आने को लेकर ओहापोह की स्थिति बनी हुई है. जिस पर रविवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने एक बयान देकर सभी कयासों पर विराम लगा दिया. कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार की हाल में निरस्त किए गए कृषि कानूनों को वापस लाने की कोई योजना नहीं है.

कांग्रेस के भ्रम से सावधान रहने का आग्रह

नरेंद्र सिंह तोमर ने इस दौरान कांग्रेस पर भ्रम लगाने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार की हाल में निरस्त किए गए कृषि कानूनों को वापस लाने की कोई योजना नहीं है. किसानों से आग्रह है कि वो इस मुद्दे पर कांग्रेस द्वारा पैदा किए जा रहे भ्रम से सावधान रहे.

UP Election 2022: मेरठ जन विश्वास यात्रा में SP कांग्रेस पर भड़के MLA संगीत सोम

किसानों की हित की रक्षा को पीएम ने वापस लिया कानून

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि कानून वापस लेने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की. नरेंद्र तोमर ने कहा कि किसानों के हितों की रक्षा करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने कृषि सुधार कानूनों को वापस लेने का फैसला किया था. बता दें कि पीएम मोदी ने 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन मे किसानों के एक साल लंबे आंदोलन के बाद कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा की थी.

यूपी चुनाव से पहले योगी सरकार आगरा लखनऊ समेत इन 19 जिलों में कराएगी सीरो सर्वे !

नागपुर में मेरे बयान को समझा गया गलत

कृषि कानून को लेकर नागपुर में दिए गए बयान पर सफाई देते हुए तोमर ने कहा कि कृषि कार्यक्रम में दिए गए उनके संबोधन को गलत समझा गया. उनकी मंशा वह नहीं थी जो दिखाया जा रहा है. मैंने कहा था कि हमने कृषि कानूनों पर एक कदम पीछे लिया है लेकिन सरकार किसानों की भलाई की दिशा में काम करने के लिए हमेशा आगे बढ़ती रहेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें