सावधान: चेक से पेमेंट लेना कर सकता है भारी नुकसान, ऐसे हो जाएंगे बड़े फ्रॉड का शिकार

Smart News Team, Last updated: Mon, 16th Aug 2021, 2:42 PM IST
  • यूपी के मेरठ जिले में ठगी का एक ऐसा मामला सामने आया है जहां ठगों ने बंद बैंक खाते के चेक से लाखों रुपए का इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीद लिया. कैश पेमेंट की जगह चेक देकर आरोपी ठग दुकान से फरार हो गए. दुकान मालिक को जब असलियत पता चली तो अपना माथा पीट लिया.
मेरठ में बंद हो चुके बैंक अकाउंट के चेक से किया फ्रॉड, फोटो क्रेडिट (फाइल फोटो)

मेरठ. ऑनलाइन बैंक के फ्रॉड केस के बारे में तो आपने काफी सुना होगा लेकिन इस बार ठगी करने वाले ऑफलाइन ही ठग ले गए हैं. मेरठ में एक दुकानदार के साथ चेक के नाम पर ठगी हुई है और उस दुकानदार को इस ठगी की जनाकारी तब हुई जब वह बैंक से पैसे लेने गया था. जब बैंक गए दुकानदार को चेक के नाम पर पैसे नहीं दिए गए तो उसे अहसास हुआ कि वह ठगी का शिकार हुआ है. इस पूरे मामले की जानकारी दुकानदार ने पुलिस में दी और पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है.

दरअसल यह पूरा मामला मेरठ शहर का है. शहर में मुरादाबाद के रहने वाले अंकेश गुप्ता की एफ-7 निर्भय ऑर्किड निकट आरजी डिग्री कॉलेज के पास एन गेट टेकोविजन के नाम से इलेक्ट्रॉनिक सामान की बड़ी दुकान है. यह इलेक्ट्रॉनिक सामान का थोक व्यापार भी करते हैं. इनके पास पंजाब निवासी अशोक जैन और राहुल जैन इलेक्ट्रॉनिक सामान लेने आए और इन दोनों ने अंकेश गुप्ता की दुकान से एसी और फ्रिज आदि इलेक्ट्रॉनिक सामान की खरीददारी की. इन दोनों ने खरीददारी के समान के पैसे कैश की जगह चेक से चुकाए जिसमें वह इलेक्ट्रॉनिक सामान की कीमत के हिसाब से 23 लाख 60 हजार का चेक दे गए.

जयपुर में एटीएम कार्ड बदलकर ठगी, शख्स के अकाउंट से निकाले एक लाख

जब दुकानदार अंकेश गुप्ता इस चेक को बैंक में भुगतान के लिए लेके गए तो वहां इनके होश उड़ गए. क्योंकि पंजाब के जो व्यापारी 23 लाख 60 हजार का चेक देके गए थे वहा खाता काफी दिनों पहले ही बंद हो चुका था. इसके बाद उन्हें पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है और इसके बाद लालकुर्ती पुलिस ने पंजाब के रहने वाले दोनों व्यापारियों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें