स्वामी प्रसाद मौर्य बोले, प्राइवेट क्षेत्र में फायदेमंद, सरकारी में मूंगफली बेचने वाले भी अरबपति

Swati Gautam, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 10:45 AM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक प्राइवेट विश्वविद्यालय में रोजगार मेले का शुभारम्भ करते हुए कहा कि निजी क्षेत्र में प्रतिभा के अनुसार आगे बढ़ने का मौका मिलता है जबकि सरकारी क्षेत्र में सीमित पद है और वहां की बंधी हुई तनख्वाह है. यहां मूंगफली बेचने वाला भी अरबपति बन गया.
स्वामी प्रसाद मौर्य बोले, सरकारी क्षेत्र में मूंगफली बेचने वाले भी अरबपति, प्राइवेट नौकरी ज्यादा फायदेमंद. file photo

मेरठ. उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य मेरठ पहुंचे जहां उन्होंने एक प्राइवेट विश्वविद्यालय में रोजगार मेले का शुभारम्भ किया. इस दौरान मंत्री ने सरकारी से ज्यादा निजी क्षेत्र को फायदेमंद बताते हुए कहा कि निजी क्षेत्र में प्रतिभा के अनुसार आगे बढ़ने का मौका मिलता है. आप जितनी मेहनत करेंगे. उसके मुताबिक गुणात्मक ढंग से आपके वेतन की वृद्धि होती है. लेकिन सरकारी क्षेत्र में एक तो सीमित पद है और वहां की बंधी हुई तनख्वाह है. उन्होंने आगे कहा कि यहां मूंगफली बेचने वाला भी अरबपति बन गया. जो कल तक सड़क की जिंदगी जी रहा था वो आज अरबों में खेल रहा है. जब मीडिया ने स्वामी प्रसाद मौर्य से कोई एक उदाहरण बताने को कहा तो मंत्री जी ने कहा गूगल देखिए मालूम हो जाएगा.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने प्राइवेट क्षेत्र और सरकारी क्षेत्र में अंतर बताते हुए कहा कि सरकारी क्षेत्रों में पद बहुत सीमित होते हैं. सरकारी पदों के सापेक्ष पढ़े लिखे नौजवानों की एक लंबी फौज है. चाहकर सभी को सरकारी पदों के सापेक्ष समाजोयित नहीं किया जा सकता. लेकिन निजी क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं. उन्होंने कहा कि आज जो भी प्रतिभाशाली युवक है सरकारी क्षेत्र की बजाए निजी क्षेत्र को प्राथमिकता ज्यादा देता है क्योंकि निजी क्षेत्र में प्रतिभा के अऩुसार आगे बढ़ने का मौका मिलता है. आप जितनी मेहनत करेंगे आपका परफॉरमेंस जितना बेहतर होगा उसके मुताबिक गुणात्मक ढंग से आपके वेतन की वृद्धि होती है.

SP-BSP पर बरसीं उमा भारती, कहा- मुलायम परिवार में भगदड़ और आइसोलेशन में मायावती

स्वामी प्रसाद मौर्य ने सरकारी क्षेत्र के लोगों पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकारी क्षेत्र में एक तो सीमित पद है और वहां की बंधी हुई तनख्वाह है. आप कितना भी हार्ड वर्क करोगे मिलेगा आपको उतना ही, लेकिन निजी क्षेत्र में आज जितना हार्ड वर्क करोगे आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा. मंत्री ने आगे कहा कि तमाम ऐसे लोगो का जीवन परिचय अगर देखे तो कभी सामान्य व्यवसाय से जुड़े थे लेकिन आज मूंगफली बेचने वाला भी अरबति बन गया है. छोटे काम करने वाली इंड्रस्टलिस्ट हो गए. जो कल तक सड़क पर ज़िन्दगी जा रहा था वो अरबों में खेल रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें