किस्मत: जर्मनी से UP आकर लड़ा पहला चुनाव, जीतकर BJP से बन गए जिला पंचायत अध्यक्ष

Smart News Team, Last updated: Sun, 27th Jun 2021, 8:04 PM IST
  • गौरव चौधरी हमेशा से अपने देश के लोगों के लिए कुछ करना चाहते थे. जर्मनी में इंपोर्ट एक्सपोर्ट का अच्छा खासा बिजनेस होने के बावजूद उन्होंने यूपी आकर भाजपा से जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव लड़ा और जीत भी हासिल हुई.
जर्मनी से यूपी आकर गौरव चौधरी बन गए BJP से जिला पंचायत अध्यक्ष

 मेरठ. मेरठ निवासी गौरव चौधरी की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है. जर्मनी के बिजनेस मैन से लेकर यूपी के मेरठ के जिला पंचायत अध्यक्ष बनने तक का उनका सफर काफी रोमांचक है. गौरव चौधरी पिछले एक दशक से जर्मनी में अपना अच्छा खासा बिजनेस चला रहे थे. लेकिन कुछ समय बाद उन्हें महसूस हुआ कि जो बात अपनी मिट्टी में है वो कहीं नहीं. फिर क्या बिना सोचे गौरव मेरठ लौटा आए. उन्हें हमेशा से अपने राज्य के लिए कुछ करने की चाह थी.

इसी बीच गौरव चौधरी ने यह फैसला लिया कि चुनाव के जरिए वे अपने राज्य के लिए कुछ बेहतर कर पाएंगे जिसके बाद मेरठ के वार्ड-18 से जिला पंचायत सदस्य के लिए दावेदारी की. जिसके दौरान भाजपा में एंट्री के साथ जिला पंचायत के चुनावों के लिए टिकट मिल गया. उन्होंने चुनाव लड़ा और गौरव चौधरी जिला पंचायत सदस्य बन गए. भाजपा से पांच जीत हासिल करने वालों में से वह एक हैं. शनिवार को वह निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हो गए. बता दें कि गौरव चौधरी ने अपनी पढ़ाई कुरुक्षेत्र से की. बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए वे जर्मनी चले गए. वहां उन्होंने इंपोर्ट, एक्सपोर्ट और कंस्ट्रक्शन का काम शुरू किया.

मेरठ DM से मिले सपा-RLD नेता, जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को लेकर की ये शिकायत

 

गौरव चौधरी का कहना है कि वे जर्मनी जाकर भी अपने देश को कभी नहीं भूले थे. हमेशा से वे अपने राज्य के लिए कुछ करना चाहते थे. जिला पंचायत का सदस्य बनाया फिर अध्यक्ष बनाकर जनता ने उन्हें अपने देश के लिए कुछ करने का एक सुनहरा मौका दिया है. बता दें कि 33 वर्षीय गौरव चौधरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना आदर्श मानते हैं. वे कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की छवि को समूचे विश्व में बदलकर रख दिया है. विदेशों में भारतीयों का सिर गर्व से ऊंचा उठ गया है।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें