मेरठ: हुड़दंग मचाने पर दारोगा ने कर दी बीजेपी नेता के बेटों की पिटाई, कार्रवाई की उठी मांग

Deepakshi Sharma, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 2:52 PM IST
  • मेरठ में दोस्तों संग बाइक पर औघड़नाथ मंदिर जा रहे बीजेपी नेता के दो बेटों की दारोगा ने पिटाई कर डाली. बीजेपी नेताओं ने विरोध करते हुए बड़े अफसरों से कार्रवाई की मांग की है. दारोगा का कहना बाइक पर हुड़दंग मचा रहे थे युवक. ऐसा होने पर काटना पड़ा था चलान,
हुड़दंग मचाने पर दारोगा ने की बीजेपी नेता के बेटों की पिटाई (फाइल फोटो)

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ में बीजेपी नेता के दो बेटों से दारोगा की मारपीट का मामला सामने आया है. दोस्तों के साथ बाइक पर औघड़नाथ मंदिर जा रहे बीजेपी नेता के दोनों बेटों संग दारोगा ने मारपीट की. इस घटना के बाद अब बीजेपी नेताओं ने विरोध करते हुए अफसरों से उस दारोगा की शिकायत कर दी. दूसरी तरफ इस पूरे मामले में साफ देते हुए दारोगा ने कहा कि वो युवक बाइक पर हुड़दंग मचा रहे थे. ऐसा होने पर उनकी बाइक का चलान काटना पड़ा. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस वक्त बीजेपी के वरिष्ठ नेता दारोगा को निलंबित करने की मांग कर रहे हैं.

फूलबाग कॉलोनी के बीजेपी मंडल अध्यक्ष नरेश गुप्ता का बेटा शिवानंद अपने छोटे भाई और चार दोस्तों के साथ बाइक पर सवार हो कर औघड़नाथ मंदिर की ओर जा रहा था. साकेत चौपले पर मौजूद दारोगा भूनेश कुमार ने उन्हें रोक लिया और उनकी तलाशी में जुट गए. शिवानंद ने ऐसा होता देख खुद को बीजेपी नेता का बेट बताया और अपने पिता से दारोगा की फोन पर ही बात करने की कोशिश करने लगा, लेकिन दारोगा नहीं मना. इसके बाद बहसबाजी होना शुरू हो गई और दारोगा ने शिवानंद की गिरेबान को पकड़ लिया. जब शिवानंद के भाई और बाकी दोस्तों ने पुलिस को घेर लिया तो दारोगा ने लाठी चलना शुरू कर दी. बाद में फिर पुलिस शिवानंद के छोटे भाई को पुलिस थाने लेकर आई.

सर्राफा बाजार 1 सितंबर का रेट: लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, आगरा, प्रयागराज, गोरखपुर में चांदी स्थिर, सोना हुआ सस्ता

घटना की सूचना मिलते ही बीजेपी नेता भी वहां जा पहुंचे. बाद में मामला ठंड़ा होने की बजाए गरम हो गया. पुलिस ने लेकिन बाद में बाइक का चालान करके नेता के बेटे को छोड़ दिया. इस पूरे मामले को लेकर इंस्पेक्टर अब्दुर्रहमान सिद्दीकी का ये कहना है कि जन्माष्टमी के चलते जेल चुंगी रोड पर झांकी लगने की वजह से रास्ता बंद था. यही वजह थी कि युवकों को रोक गया था. वो युवक बाइक पर हुड़दंग कर रहे थे. पुलिस ने युवक की पिटाई नहीं की है.

अब 1000 के करीब पहुंचे LPG सिलेंडर के दाम, जानें अपने शहर में गैस के नया रेट

वही, दूसरी ओर बीजेपी नेता नरेश गुप्ता का ये कहना है कि दोनों बेटे दोस्तों के साथ मंदिर जा रहे थे. दारोगा ने उन्हें बदमाश बताते हुए रोक लिया और उनकी तलाश शुरू कर दी. बाद में मारपीट भी की गई. डंडों से पिटाई करने के बाद ही थाने से उन्हें छोड़ा गया था. यदि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन किया गया है तो चालान करें. पिटाई करने का कोई हक नहीं है. यही वजह है कि बड़े अफसरों से दारोगा के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें