यूपी पंचायत चुनाव: मेरठ में सोमवार को वोटिंग, पोलिंग टीम बूथों पर रवाना

Smart News Team, Last updated: 25/04/2021 04:30 PM IST
मेरठ जिले में सोमवार को तीसरे चरण का त्रिस्तरीय मतदान होना है. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए रविवार को जिले के 12 मुख्यालयों से पोलिंग पार्टियों को निर्धारित बूथ पर भेज दिया गया है. प्रशासन ने सभी पोलिंग पार्टियों को बस से बूथ पर भेजा है.
यूपी पंचायत चुनाव. (प्रतीकात्मक चित्र)

मेरठ : रविवार को मेरठ जिले के सभी 12 ब्लॉक मुख्यालय से पोलिंग पार्टियां को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए भेज दिया गया है. सोमवार को मेरठ में तीसरे चरण का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का मतदान होगा है. पोलिंग पार्टियों की रवानगी के लिए प्रशासन ने कई बसों का अधिग्रहण किया है. आज ये पोलिंग पार्टियां अपने निर्धारित बूथ पर काफी अव्यवस्था के बीच रवाना हुई. सभी 12 ब्लॉक मुख्यालय पर लोगों की इतनी भीड़ इकट्ठा हो गई थी. कि लोगों को कंट्रोल में रखना मुमकिन नहीं था. बढ़ते कोरोना केस के बावजूद ब्लॉक पर उमड़ी भीड़ ने सोशल डिस्टेंसिंग का नियम पालन नहीं किया.

प्रशासन द्वारा निर्धारित किए गए बूथों पर कड़ी सुरक्षा का इंतजाम था. मेरठ जिले के 12 ब्लॉक से 33 जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव के लिए कुल 451 प्रत्याशी उम्मीदवार है. इसके अलावा ग्राम पंचायत के 479 प्रधान पद के लिए चुनाव मैदान में 4383 उम्मीदवार अपनी किस्मत दांव पर लगाए हैं. साथ ही बीडीसी पद के 824 सीट के लिए कुल 3832 प्रत्याशी आपस में टक्कर ले रहे हैं. साथ ही ग्राम पंचायत सदस्य पद के 6373 पद के चुनाव के लिए कुल 5927 उम्मीदवार हैं. 

मेरठ में BSNL का इंटरनेट अचानक हुआ ठप, ये थी खराबी की बड़ी वजह

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए तीसरे चरण का मतदान 26 अप्रैल दिन सोमवार को किया जाएगा. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के वोट डालने का समय सुबह 7 बजे से लेकर शाम को 6 बजे तक रहेगा. प्राइवेट बस यूनियन के अध्यक्ष चौधरी हिम्मत सिंह ने बताया कि प्रशासन ने मेरठ में तीसरे चरण के चुनाव के लिए अधिकतर प्राइवेट बसों का अधिग्रहण कर लिया है. किससे रविवार और सोमवार को मेरठ का सफर करने वालों को दिक्कत होगी.

मेरठ आनंद हॉस्पिटल में आधी रात खत्म हुई ऑक्सीजन, हाहाकार मचते ही मरीजों के परिजन लेकर पहुंचे सिलेंडर

दर्दनाक: ऑक्सीजन की कमी और समय पर इलाज न मिलने से मेरठ में 3 लोगों की मौत

मेरठ में कोरोना का मचा हाहाकार, एक ही परिवार के पिता और दो पुत्रों की गई जान

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें