UP पंचायत चुनाव: वोटर्स को लुभाने के लिए हो रही मुर्गा पार्टी, चिकन की कीमतें हुईं डबल

Smart News Team, Last updated: Sun, 4th Apr 2021, 1:38 PM IST
मेरठ में पंचायत चुनाव की तैयारियां शुरु हो गई है. जिले के ग्रामीण क्षेत्र में चिकन पार्टी होने के कारण मेरठ में मुर्गे के रेट दोगुना हो गए है. चिकन के दामों में बढ़ोत्तरी से चिकन कारोबारी खुश नजर आ रहे है.
पंचायत चुनाव के कारण मेरठ में दोगुना हुए मुर्गे के दाम.( सांकेतिक फोटो )

मेरठ: निर्वाचन आयोग की घोषणा के बाद यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारी जोरों पर चल रही है. चुनावी मैदान में उतर रहे प्रत्याशी अपने-अपने वोटरों को लुभाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे है. पंचायत चुनावों को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में माहौल जोरदार चल रहा है. कोई अपने वोटर को मुर्गा पार्टी दे रहा है तो किसी दूसरे तरीके से मतदाता का ध्यान अपनी ओर करने में लगा है. मुर्गा पार्टी के कारण क्षेत्र में मुर्गा के दामों दो गुना इजाफा हो गया हो गया है. जिसके कारण चिकन कारोबार खुश नजर आ रहे है.

पिछले 10 दिनों पहले मेरठ क्षेत्र में गुर्गा के रेट 120 से 140 रुपये प्रति चल रहा था, लेकिन अब गुर्गा के भाव 230 से 250 रुपये प्रति किलो के आसपास पहुंच गया है. गुर्गा की डिमांड को देखते हुए चिकन कारोबारी प्रत्याशियों को होम डिलीवरी की सुविधा भी दे रहे है. दुकानदारों का कहना है कि कुछ समय पहले बर्ड फ्लू की वजह से उनका खासा नुकसान हुआ था. लेकिन अब पंचायत चुनाव ने वह कमी पूरी कर दी हैं. आलम यह है कि आज की तारीख में गांव से मुर्गे की इतनी डिमांड है कि उससे पूरा करना मुश्किल हो रहा है.

कांग्रेस ने 17 जिलों के जिला पंचायत सदस्य के प्रत्याशियों की सूची जारी, देखें लिस्ट

मिल रही फ्री होम डिलीवरी की भी सुविधा

मुर्गे की बढ़ती डिमांड के कारण कारोबारी गांव तक ही होम डिलीवरी की सुविधा दे रहे है. जिससे गांव के लोगों की बल्ले-बल्ले हो रही है. ग्रामीणों की मानें, तो शाम होते ही गांव में चिकन पार्टियां शुरु हो जाती है. चिकन की इतनी डिमांड बढ़ने से यूपी में रोजाना मुर्गे के रेट में 10 से 20 रुपये की बढ़त हो रही है. हालांकि राजनीतिक विशेषज्ञ कह रहे हैं कि इस बात का पता नहीं चल रहा, कि लोग किसका खा रहे हैं और किस को वोट देंगे.

मेरठ सर्राफा बाजार में तेजी के साथ खुले सोना चांदी के भाव, आज का मंडी भाव

बैंक ने अगर गंदे और कटे फटे नोट लेने से किया इंकार तो अब खैर नहीं, RBI लगाएगा जुर्माना

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें