UP पंचायत चुनाव: HC के निर्देश के बाद सरगर्मियां तेज, आरक्षण सूची का इंतजार

Smart News Team, Last updated: Sun, 7th Feb 2021, 11:49 AM IST
  • इलहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को निर्देश देते हुए कहा कि 17 मार्च तक आरक्षण का कार्य पूरा कर लें, इसके बाद 30 अप्रैल तक प्रधानों के चुनाव कराए जाएं.
यूपी पंचायत चुनाव अब अप्रैल में संभव.

मेरठ: प्रदेश में आगामी पंचायत चुनाव को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश के बाद सरगर्मियां तेज हो गई हैं. गांव में ग्राम प्रधान, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्यों के लिए आने वाली आरक्षण सूची का इंतजार है. हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को निर्देश देते हुए कहा कि 17 मार्च तक आरक्षण का कार्य पूरा कर लें, इसके बाद 30 अप्रैल तक प्रधानों के चुनाव कराए जाएं. 15 मई तक जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के चुनाव कराएं. आरक्षण सूची जारी होते ही चुनाव अधिसूचना जारी कर दी जाएगी.

आपको बता दें कि यूपी पंचायत चुनाव में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था है, जिसे वरीयता क्रम के अनुसार लागू किया जाता है. पहला नंबर अनुसूचित जाति वर्ग की महिला का होगा. अनुसूचित वर्ग की कुल आरक्षित 21 प्रतिशत सीटों में से एक तिहाई सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी. पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित 27 प्रतिशत सीटों में भी पहली वरीयता महिलाओं को दी जाएगी. अनारक्षित सीटों पर सामान्य वर्ग से लेकर किसी भी जाति का व्यक्ति चुनाव लड़ सकता है.

मेरठ सर्राफा बाजार में कभी सुस्त को कभी बढ़ी चांदी की कीमतें

वहीं, मेरठ जिले में पंचायत चुनाव की तैयारी जोर-शोर से चल रही है. 12 ब्लॉक में 865 मतदान केंद्र और 2351 बूथ बढ़ गए हैं. मतदान और मतगणना की ड्यूटी के लिए जिले के लगभग 559 विभिन्न विभागों के कार्मिकों और अफसरों का डाटा फीड करने का काम किया जा रहा है. आलोक कुमार सिंहा, DPRO ने बताया कि हाईकोर्ट के निर्देश तो आ गए हैं. उम्मीद है कि 15 तारीख तक आरक्षण का जियो जारी कर दिया जाएगा.

पेट्रोल डीजल 7 फरवरी का रेट: लखनऊ, वाराणसी, कानपुर, मेरठ, आगरा में नहीं बढ़े दाम

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें