तड़पती हालत में मिला 29 साल का युवक, पुलिस से बोला- मुझपर केरोसिन डालकर जलाया, मौत

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 3rd Sep 2021, 4:07 PM IST
  • मेरठ के खरदौना थाना क्षेत्र के एक गांव के बाहर युवक को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है. जिसने मेरठ पुलिस को बयान दिया कि उसके ऊपर केरोसिन डालकर जला दिया गया, मुझे बचा ले. जिसे पुलिस ने इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज ले गए। जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.
गांव के बाहर जला हुआ मिला युवक, पुलिस से कहा- मुझपर केरोसिन डालकर जलाया

मेरठ. मेरठ में एक युवक को उसी के गांव के बाहर जिंदा जला देने का मामला सामने आया है. जिसे गांव के बाहर खेत मे जली हुई हालात में एक किसान को तड़पता हुआ मिला. किसान ने युवक को इस स्थिति में देखा तो उसने इसकी सुचना पुलिस को दी. सूचना मिलते ही पुलिस वहां पर पहुंची. पुलिस के पहुंचते ही युवक ने बयान दिया कि मुझपर केरोसिन डालकर जल दिया, मुझे बचा लो. पुलिस ने आनन-फानन में युवक को मेडिकल कॉलेज ले गए. जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. जिसके बाद पुलिस ने युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. 

युवक को जिंदा जलाने का मामला मेरठ के खरदौना थाना क्षेत्र के बिजौली गांव का है. जहां पर गांव के ही निवासी 29 वर्षीय योगेंद्र को जिंदा जला दिया गया. जानकारी के अनुसार योगेंद्र गाजियाबाद में एक शोरूम में काम करता था. वहीं उसका एक भाई और बहन भी है. जो गांव में माँ के साथ रहते है. बताया जा रहा है कि योगेंद्र 7 अगस्त को गाजियाबाद चला गया था. वहीं उसकी परिजनों से आखिरी बार बात गुरुवार को हुई थी. 

फर्जी कागजों पर करोड़ों का लोन लेने के मामले में राजस्नेह के निदेशकों पर सीबीआई की बड़ी कार्रवाई

इस घटना के बारे में पुलिस ने बताया कि युवक उन्हें गांव के बाहर 85 फीसद जली हुई हालत में मिला था. जब वह उसके पास पहुंचे तो युवक ने कहा कि मुझे युवकों ने लाकर जला दिया, मुझपर केरोसिन डाला गया. इसके साथ ही पुलिस ने बताया कि उन्हें युवक को घटना स्थल पर जलाए जाने का कोई भी सबूत नहीं मिला है. जिसपर पुलिस अनुमान लगा रही है कि युवक को कही और पर जलाकर गांव के बाहर फेंक दिया गया है. इसके साथ ही पुलिस युवक को पेट्रोल से जलाए जाने की भी आशंका जता रही है. 

इसके साथ ही पुलिस ने युवक को जिंदा जलाए जाने को लेकर अपनी तहकीकात शुरू कर दी है. साथ ही इसको लेकर युवक के परिजनों से भी पूछताछ की. जिसपर परिजनों क कहना है कि उन्हें नहीं पता कि मृतक योगेंद्र गाजियाबाद से गांव के बाहर कैसे आया. वहीं पुलिस युवक के कॉल डिटेल के आधार पर जांच करने में जुटी हुई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें