योगी सरकार बनाएगी मजदूरों की बेटियों को आर्थिक रूप से सक्षम, चलाई नई योजना

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 01:14 PM IST
  • मेरठ जिले में 01 लाख 97 हजार से अधिक मजूदरों और उनके परिवारों को 46.94 करोड रुपये से ज्यादा का फायदा हुआ है. यह सब उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण की योजना की श्रमिकों को बेटियों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद और शादी के लिए कन्या विवाह अनुदान योजना के कारण हुआ है.
UP CM.

मेरठ. उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने कहा कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण की योजना से श्रमिकों को बेटियों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद और शादी के लिए कन्या विवाह अनुदान योजना से मेरठ जिले में 01 लाख 97 हजार से अधिक मजूदरों और उनके परिवारों को 46.94 करोड रुपये से ज्यादा का फायदा हुआ है.

इसी दौरान उपायुक्त श्रम दीप्तिमान भट्ट ने कहा कि प्रदेश सरकार श्रमिकों के हित के लिए अनेक योजनाएं चला रही है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से भी श्रमिको और उनके परिवारों को लगातार फायदा पहुंचाया जा रहा है. 

असम से युवती हुई किडनैप, दिल्ली में खरीदी गई, मेरठ में करवाने लाए ऐसा काम

योगी सरकार के कार्यकाल में मृत्यु, विकलांगता और अक्षमता पेंशन योजना के अन्तर्गत 336 पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के आश्रितों को करीब 7 करोड़ रुपये से लाभान्वित किया गया. अन्त्येष्टि सहायता योजना के तहत 336 पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के आश्रितों को 82 लाख 70 हजार रूपये देकर लाभन्वित किया गया है.

उन्होंने यह भी कहा कि कन्या विवाह अनुदान योजना के तहत 1553 रजिस्टर्ड निर्माण कार्य करने वाले श्रमिको को उनकी बेटी की शादी के लिए करीब 9 करोड़ रुपये दिए हैं.‌‌

मेरठ में एग्जाम में नकल के ये निराले तरीके कर देंगे हैरान, जानें कैसे हुई चीटिंग

मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना के तहत 2329 पंजीकृत निर्माण कार्य करने वाले मजदूरों को करीब 3 करोड़, मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के तहत 289 रजिस्टर्ड मजदूरों को 8 लाख 41 हजार रुपये दिए हैं.संत रविदास शिक्षा सहायता के तहत 878 रजिस्टर्ड निर्माण श्रमिकों को 12 लाख 42 हजार दिए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें