मेरठ: बिजली विभाग की छापेमारी तेज, लोगों के उठने से पहले मारी रेड, पकड़ी चोरी

Smart News Team, Last updated: 16/09/2020 09:59 AM IST
  • मेरठ में बिजली विभाग की छापेमारी तेज हो गई है. विभाग लोगों के उठने से पहले रेड मार रहा है और रोज बिजली चोरी करने वालों पर कार्रवाई कर रहा है. साथ ही बिल ना भरने वालों के कनेक्शन भी काटे जा रहे हैं.
मेरठ: बिजली विभाग की छापेमारी तेज, लोगों के उठने से पहले मारी रेड, पकड़ी चोरी

मेरठ. मेरठ में बिजली चोरी रोकने के लिए विभाग तेजी से छापेमारी कर रहा है. बिजली विभाग लोगों के उठने से पहले ही विजीलेंस और पुलिस की टीम लेकर कई इलाकों में एक साथ छापेमारी करने जा रहा है. टीम ने कई घरों की बिजली चोरी पकड़ी और उनपर कार्रवाई की. बुधवार सुबह लिसाड़ी गेट और सदर क्षेत्र में 40 से अधिक बिजली चोरी के मामले पकड़े गए. सभी मामलों में रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है.

नगरीय विद्युत वितरण निगम लिमिटेड द्वितीय और तृतीय क्षेत्र में बिजली-विजीलेंस टीमों ने छापेमारी की. अधिशासी अभियंता सोनू रस्तोगी और अधिशासी अभियंता सचिन कुमार ने टीमों का नेतृत्व किया. इन्होंने बिजली चोरी पकड़ने के लिए छापेमारी की और कार्रवाई की. मंगलवार की तरह बुधवार को भी लोगों ने छापेमारी रोकने और टीम के चेकिंग कार्य में बाधा डालने की कोशिश की. हालांकि पुलिस के मौजूद रहने से विरोध नहीं हुआ.

मेरठ: सुबह-सुबह विभाग की छापेमारी, 9 लोगों के घर बिजली चोरी पकड़ी, हुआ हंगामा

बुधवार को लिसाड़ी गेट और सदर क्षेत्रों में 40 मामले बिजली चोरी के पकड़े गए. सभी मामलों में बिजली थाना कंकरखेड़ा में रिपोर्ट दर्ज कराई जा रही है. छापेमारी करने गए पीवीवीएनएल अफसरों को मुताबिक कई मीटर संदिग्ध लग रहे है, जिनकी लैब भेजकर जांच कराई जाएगी. दूसरी ओर, एमडी पीवीवीएनएल अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने बिजली चोरी रोकने के लिए पूरे पश्चिमांचल में कार्रवाई के निर्देश दिए.

मेरठ: बिजली चोरी के बढ़ते मामलों के बाद अब डाटा केबिल से कनेक्ट होगा मीटर

बिजली विभाग के अधिकारियों ने सुबह-सुबह छापेमारी अभियान चला रखा है. इस मॉर्निंग रेड में अधिकारियों को खुद भी शामिल होने को कहा गया है. दरअसल, अगले दो महीनों में हाईलाइन लॉस चिहिन्त फीडरों पर कार्रवाई करते हुए लाइन लॉस 15 फीसदी से नीचे लाने के निर्देश दिए गए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें