प्राथमिक स्कूल में लोगों के शराब पीने का वीडियो वायरल, शिक्षा विभाग में हड़कंप

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Aug 2021, 12:02 PM IST
  • मेरठ के एक प्राथमिक स्कूल में कुछ लोगों के बैठकर शराब पीने का वीडियो वायरल हुआ है. जिसके बाद शिक्षा विभाग ने खंड शिक्षा अधिकारी को इस घटना की जांच करके 24 घंटे में विभाग में इसकी रिपोर्ट पेश करने को कहा है. वहीं, इस मामले में स्कूल के प्रधानाध्यपक का कहना है कि थाने से लेकर प्रधान तक सभी से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.
एक सरकारी स्कूल में कुछ लोगों के शराब पीने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

मेरठ. मेरठ में एक सरकारी स्कूल में कुछ लोगों के शराब पीने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग में हंगामा मच गया. विभाग के अधिकारियों ने तत्काल खंड शिक्षा अधिकारी को इस मामले में जांच करके रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। रोहटा क्षेत्र के किनौनी गांव में स्थिति प्राथमिक स्कूल में कार्यरत प्रधानाध्यपक पवन त्यागी ने कहा इस बारे में कई बार पुलिस को शिकायत की, लेकिन किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई.

शाम 4 बजे से लेकर देर रात तक सजी रहती महफिल

जानकारी अनुसार, यह पहली बार नहीं है इस गांव के स्कूल में यह रोज की बात हो गई है. शाम 4 बजे से इलाके के शराबी यहां इकट्ठा हो जाते हैं. जिसके बाद देर रात तक यहां लोग शराब पीते हैं. जब सुबह स्कूल खुलता है तो यहां पर शराब की खाली बोतल, गिलास बिखरे मिलते हैं. जिन्हें स्कूल के टीचर खुद उठाकर फेंकते हैं तो कई बार बच्चों से फिंकवाते हैं.

UP में 11 हजार बच्चों को हर साल मिलेगा 10 हजार रुपये स्कॉलरशिप, ऐसे करें आवेदन

पुलिस से लेकर प्रधान तक से कर चुके हैं शिकायत

स्कूल के प्रधानाध्यपक पवन त्यागी ने इस मामले में बताया कि शराबी कई बार स्कूल में कई चीजों का नुकसान भी कर चुके हैं. जिसके चलते कई बार पुलिस से शिकायत भी की है, लेकिन किसी भी तरह की कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है. वहीं, ग्राम के प्रधान से भी इस बारे में शिकायत कर चुके हैं उन्होंने भी किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की है.

विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाए सभी कार्यकर्ता- कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष

खंड अधिकारी को नहीं कोई जानकारी

इस मामले में आनन-फानन में शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने खंड शिक्षा अधिकारी राजमोहन यादव को निर्देश दिए हैं कि इस मामले में जांच करके 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट विभाग में प्रस्तुत करें. वहीं, राजमोहन यादव का कहना है कि उन्हें इस मामले की अभी तक कोई जानकारी नहीं थी, अगर ऐसा कुछ भी स्कूल में हो रहा है तो उसकी जांच कराई जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें