मेरठ: भारत बंद के कारण परतापुर इंटरचेंज पर तीन घंटे तक रुका रहा काम

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 06:25 PM IST
  • मेरठ: 8 दिसंबर को किसानों के भारत बंद के कारण परतापुर इंटरचेंज का काम करीब तीन घंटे प्रभावित रहा. हालांकि, दोपहर 1.30 बजे जाम खुलने के बाद वाहनों का आवागमन चालू हुआ और निर्माण कार्य पूरी तरह से शुरू हो सका.
भारत बंद के कारण परतापुर इंटरचेंज का काम करीब तीन घंटे प्रभावित रहा

मेरठ: 8 दिसंबर को किसानों के भारत बंद के कारण परतापुर इंटरचेंज का काम करीब तीन घंटे प्रभावित रहा. हालांकि, दोपहर 1.30 बजे जाम खुलने के बाद वाहनों का आवागमन चालू हुआ और निर्माण कार्य पूरी तरह से शुरू हो सका. बता दें, परतापुर इंटरचेंज पर बड़ी तादाद में किसानों ने चक्का जाम कर दिया था. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सुबह 11 बजे ट्रैक्टर ट्रालियों में पहुंचे किसानों ने भूड़ बराल के पास दिल्ली रोड पर डेरा जमाया था. जिससे परतापुर तिराहे और भूड़बराल की तरफ जाम लग गया. जाम के कारण परतापुर इंटरचेंज पर चल रहे मिट्टी भराव के कार्य के लिए मिट्टी लेकर आ रहे डंफर निर्माण स्थल तक नहीं पहुंच सके.

जाम इतना बड़ा था कि क्रेन और जेसीबी इधर से उधर नहीं पहुंच पा रही थीं. करीब तीन घंटे तक निर्माण एजेंसी की डंफर और मशीनें इंटरचेंज पर खड़ी रहीं. निर्माण एजेंसी के इंजीनियर और कर्मचारी भी चक्काजाम खुलने का इंतजार करते रहे. दोपहर 1.30 बजे जाम खुलने पर आवागमन शुरू हुआ तब जाकर एक्सप्रेस-वे के इंटरचेंज का काम शुरू हो सका.

मेरठ: गैंगस्टर एक्ट लगने के बाद भी मन्नू और काला पुलिस की पहुंच से दूर

इसको लेकर निर्माण एजेंसी के अधिकारियों का कहना है कि किसानों के चक्काजाम के दौरान रेलवे ओवरब्रिज और दिल्ली रोड ओवरब्रिज के बीच मिट्टी समतल का काम किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें