यूपी सरकार ने देवबंद में किया ATS का गठन, CM योगी बोले- आतंकियों को अब ठोकेंगे

Atul Gupta, Last updated: Tue, 4th Jan 2022, 7:22 PM IST
  • यूपी चुनाव 2022 से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने देवबंद में एटीएस का गठन करने का ऐलान करते हुए कहा कि अब आतंकवादियों को ठोकेंगे. देवबंद मुस्लिम उलेमाओं का गढ़ माना जाता है जहां दारूल-उलूम देवबंद भी मौजूद हैं. यहीं से पूरे भारत और दुनिया में फतवे जारी होते हैं.
उत्तर प्रदेश के देवबंद में ATS का गठन (फाइल फोटो)

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को सहारनपुर के देवबंद में एंटी टेरेरिज्म स्कवॉर्ड (ATS) का गठन किया. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले इस यूनिट का गठन काफी अहम माना जा रहा है. योगी आदित्यनाथ के इस कदम को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रवाद के एजेंडे के तौर पर देखा जा रहा है. देवबंद मुस्लिम उलेमाओं का गढ़ है जिसे दारूल-उलूम देवबंद के नाम से जाना जाता है. सहारनपुर में योगी आदित्यनाथ ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर देश के खिलाफ साजिश रचोगे तो हमारे कमांडो, तुम कहीं भी छुपोगे, ढूढ़कर निकालेंगे और काम तमाम कर देंगे.

बताया जा रहा है कि करीब दो हजार स्क्वैयर मीटर में बनने वाले एटीएस सेंटर में करीब 100 कमांडो को ट्रेनिंग मिलेगी और वो पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संवेदनशील इलाकों पर नजर रखेंगे. बताया जा रहा है कि इस सेंटर में करीब 15 आईपीएस अफसर भी होंगे. योगी आदित्यनाथ सरकार एटीएस सेंटर राज्य के दूसरे जिलों जैसे मेरठ, बहराइच, श्रावस्ती और गौतम बुद्ध नगर में भी स्थापित करना चाहती है.

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान सहारनपुर की सात सीटों में से बीजेपी ने चार पर जीत दर्ज की थी जिसमें देवबंद, गंगोह, रामपुर और मनीहरन और नाकुर सीट शामिल है. इसके अलावा कांग्रेस ने सहारनपुर देहात और बेहत सीट पर कब्जा जमाया था और समाजवादी पार्टी के हिस्से में सहारनपुर सिटी की सीट आई थी. इस बार भी बीजेपी को उम्मीद है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इन जिलों से बीजेपी ठीक-ठाक सीट निकालकर ले जाए. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीजेपी की एक चिंता ये भी है कि ये किसानों का इलाका है जो पिछले एक साल तक कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली से सटे बॉर्डरों पर जमे रहे. उनकी नाराजगी को कम करना और वोट में बदलना बीजेपी की रणनीति का महत्वपूर्ण हिस्सा होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें