10 दिन से बड़े भाई को ढूंढता रहा छोटा भाई, पुलिस ने कहा- अब कुछ नहीं हो सकता

Smart News Team, Last updated: Sun, 11th Jul 2021, 3:50 PM IST
  • मेरठ के माधवपुरम में रहने वाले बिट्टू को 10 दिन तक अपने भाई की तलाश रही लेकिन उसे अंत में पुलिस से केवल एक जवाब मिला कि अब कुछ नहीं हो सकता. जहां बिट्टू अपने भाई प्रताप को ढूंढ रहा था वहीं पुलिस भी प्रताप के घरवालों को खोज रही थी. जानें क्या हुआ ऐसा.
3 दिन तक युवक की लाश मर्चरी में रखी रही इसके बाद पुलिस ने युवक की लाश को लावारिस समझकर अंतिम संस्कार कर दिया. (प्रतीकात्मक फोटो)

मेरठ. बीते एक जुलाई से एक भाई अपने बड़े भाई की तलाश में लगा था. जब पुलिस के पास पहुंचा तो जवाब मिला की अब कुछ नहीं हो सकता. वो ये सुनकर हैरान रह गया. उसे पता चला कि 10 दिन से वो जिस बड़े भाई की खोज में लगा था वो बड़ा भाई अब इस दुनिया में नहीं रहा. ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के माधवपुरम सेक्टर तीन निवासी प्रताप सफाई कर्मचारी थे. मृतक के छोटे भाई बिट्टू ने बताया कि घटना वाले दिन से ही उनको तलाश कर रहे थे. 

बताया जा रहा है कि उसका भाई 1 जुलाई को अपना काम पूरा करके वापस अपने घर जा रहा था तो देहली गेट के पास एक्सीडेंट हो गया. इस सड़क हादसे में उनकी मौत हो गई. पीड़ित साइकिल से घर जा रहा था जब उसकी एक गाड़ी से टक्कर हो गई. वो सड़क पर गिरा और पीछे से आ रही दूसरी गाड़ी उसपर चढ़ गई. पीड़ित को गंभीर रूप से चोट आने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां उसकी मौत हो गई. पुलिस ने उसके घर वालों की खोज की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा. वहीं दूसरी ओर उसका भाई भी उसकी खोज में लगा था. 

मेरठ में कॉन्स्टेबल की संदिग्ध हालात में मौत, साथी को हिरासत में लिया गया

तीन दिन पुलिस ने शव को लावारिस मानकर मर्चरी में रखवा दिया. वहीं तीन दिन बाद मृतक के छोटे भाई ने पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करवाई. ना पुलिस को मृतक के घर वाले मिले और ना ही छोटे भाई को उसका बड़ा भाई. अब दस दिन बाद पुलिस को मृतक का भाई मिला तो उनके पास केवल मृतक का सामान है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें