चाणक्य नीति : इन बातों के कारण आ जाती है पति-पत्नी के बीच दरार, ना करें ये काम

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Jul 2021, 11:32 AM IST
  • चाणक्य का मानना है कि पति-पत्नी का रिश्ता बहुत ही खूबसूरत होता है. ऐसे में इस रिश्ते में कुछ चीजों को नजरअंदाज करने से खोखलापन आ जाता है. ऐसे में चाणक्य की इन नीतियों का ध्यान रखना चाहिए.
आज की चाणक्य नीति

अपने ग्रंथ नीति शास्त्र में आचार्य चाणक्य ने जीवन से जुड़े तमाम पहलुओं पर अपनी बात रखी है. चाणक्य का ये मानना था कि बेहद ही पवित्र रिश्ता होता है पति पत्नी का. इस रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए सबसे ज्यादा प्रेम और भरोसे की जरुरत होती है. अगर पति पत्नी के रिश्ते में झूठ या धोखा आ जाता है तो रिश्ता बेहद ही कमजोर हो जाता है. 

अगर सभी जिम्मेदारियों को एक साथ मिलक पति-पत्नी निभाते हैं तो उनका रिश्ता सफल रहता है. साथ ही घर में सुख-शांति बनी रहती है. यही कारण है कि रिश्ते की अहमियत को समझना चाहिए और उसे मजबूत बनाने की कोशिश करना चाहिए.  ऐसे में पति पत्नी को अपने बीच इन बातों को कभी नहीं आने देना चाहिए.

आज है विनायक चतुर्थी, अगर चाहते हैं भगवान श्रीगणेश को करना प्रसन्न करें ये काम

  1. मान सम्मान में कमी- चाणक्य के अनुसार मान-सम्मान सबसे ज्यादा सर्वोच्च होता है पति-पत्नी के रिश्ते में, ऐसे में एक-दूसरे का मान दोनों को जरूर रखना चाहिए. जैसे ही इस चीज की कमी रिश्ते में आ जाती है कलह और तनाव बन जाता है. 

2. बातचीत की कमी होना- चाणक्य के अनुसार हमेशा बातचीत से पति पत्नी को हर समस्या का बल निकाल लेना चाहिए. कोई भी स्थिति क्यों ना हो बातचीत बंद नहीं होनी चाहिए. चाणक्य का मानना है कि जिन लोगों के बीच बातें खत्म हो जाती हैं उनका रिश्ता भी खत्म होने के कागार पर आ जाता है.

3. प्रेम में कमी आ जाना- चाणक्य के अनुसार अगर पति-पत्नी के रिश्ते में प्रेम की कमी आने लगती हैं तो घर में अशांति फैल जाती है. अगर आप चाहते हैं कि आपका रिश्ता कमजोर ना पड़े तो इसमें प्रेम होना बेहद ही जरुरी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें