मेरठ निगम की नई व्यवस्था, अब नालों की सफाई के बाद सड़कों पर नहीं दिखेगी सिल्ट

Smart News Team, Last updated: Fri, 12th Feb 2021, 2:52 PM IST
  • नगर निगम की ओर से शहर की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 20 हाइड्रोलिक ट्रालियां खरीदी हैं. इनमें ढक्कन की व्यवस्था होगी. मशीन नालो-नालियों से सिल्ट निकालकर सीधे ट्राली में डालेगी. जब ट्राली भर जाएगी तो उसे डंपिंग ग्राउंड भेज दिया जाएगा. 
फाइल फोटो

मेरठ. सफाई व्यवस्था को नगर निगम अकसर लोगों के निशाने पर रहता है. सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए मेरठ नगर निगम ने नई व्यवस्था की है, जिसके तहत अब शहर में नालों और नालियों की सफाई के बाद सिल्ट सड़क पर दिखाई नहीं देगी.

उल्लेखनीय है कि निगम ने 20 हाइड्रोलिक ट्रालियां खऱीदी है. जिनमें सिल्ट को भरकर आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है. ट्रालियों के ऊपर ढकने के लिए ढक्कन की व्यवस्था भी है. जिससे बदबू और रास्ते में सिल्ट के गिरने की समस्या भी नहीं रहेगी और सिल्ट को डंपिंग ग्राउंड पर पहुंचाया जा सकेगा. जोनल सेनेटरी अधिकारी अरूण खरखोदिया के मुताबिक हाइड्रोलिक ट्राली तीनों वाहन डिपो को दी गई हैं. दिल्ली रोड वाहन डिपो और सूरजकुंड वाहन डिपो को 8-8 ट्राली दी गई हैं.

गन्ने की 'अगेती' किस्म को गन्ना विभाग ने नकारा, दूसरी प्रजाति की फसल की सलाह

उन्होंने कहा कि शहर की जरूरत के हिसाब से अभी ट्रालियां कम हैं. इनके उपयोग से शहर की सफाई व्यवस्था बेहतर होगी हाइड्रोलिक ट्राली का उपयोग शहर की नालियों और नालों की सफाई के लिए होगा. मशीन नाले से सिल्ट निकालकर सीधे ट्राली में डालेगी. जब ट्राली भर जाएगी तो उसे डंपिंग ग्राउंड भेज दिया जाएगा. मेरठ निगम की ओर से की जा रही इस नई व्यवस्था से शहर की सड़कों पर सफाई के बाद गंदगी दिखाई नहीं देगी. शहर की सफाई व्यवस्था बेहतर होगी और योजना सफल रही तो निगम ट्रालियों की गिनती बढ़ाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें