Diwali 2021: दिवाली पर इस साल बन रहे हैं ये दुर्लभ संयोग, नोट करें लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Anuradha Raj, Last updated: Sat, 25th Sep 2021, 1:55 PM IST
  • दिवाली के पर्व का हिंदू धर्म में विशेष महत्व होता है. इस दिन लोग लक्ष्मी-गणेश की पूजा अर्चना विधि-विधान से करते हैं. ऐसे में लक्ष्मी और गणेश प्रसन्न होकर अपनी कृपा बरसाते हैं.
दिवाली 2021

दिवाली के त्योहार का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व होता है.कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को हर साल दिवाली का त्योहार मनाते हैं. दिवाली के दिन भगवान श्री गणेश और माता लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है. इस साल भी दिवाली पर कुछ ऐसे ही दुर्लभ संयोग बनते हुए नजर आ रहे हैं. ज्योतिष गणनाओं पर गौर करें तो दिवाली इस बार दुर्लभ संयोग में मनाई जाने वाली हो. दिवाली पर इस साल एक ही राशि में चार ग्रह विराजमान रहने वाले हैं. ऐसे में बेहद ही शुभ इस संयोग को माना जा रहा है.

एक ही राशि में चार ग्रह

सूर्य, मंगल, बुध और चंद्रमा इस साल दिवाली के मौके पर तुला राशि में विराजमान रहने वाले हैं. चार ग्रह तुला राशि में रहेंगे ऐसे में शुभ फल की कामना की जा रही है. ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों का राजा सूर्य को माना गया है. ग्रहों का सेनापति मंगल को माना गया है. ग्रहों का राजकुमार बुध को और मन का कारक चंद्रमा को बताया गया है.

एक ही राशि में चार ग्रहों के रहने से शुभ परिणाम मिल सकता है

धन लाभ का संकेत 

शुभ फल की प्राप्ति हो सकती है

व्यापार और नौकरी में तरक्की का योग बन सकता है

मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि हो सकती है.

 

लक्ष्मी पूजा का ये है मुहूर्त

4 नवंबर को सुबह 6 बजकर 3 मिनट से अमावस्या तिथि शुरू हो जाएगी, जो 5 नवंबर को 2 बजकर 44 मिनट पर खत्म होगी. ऐसे में दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का मुहूर्त शाम 6 बजकर 9 मिनट से रात 8 बजकर 20 मिनट तक रहने वाला है. इस दौरान पूजन अवधि 1 घंटे 55 मिनट की रहने वाली है.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें