उद्यमियों को मिली राहत, जल्द खुलेगा फैसिलिटेशन सेंटर

Smart News Team, Last updated: Wed, 4th Nov 2020, 8:11 PM IST
  • मेरठ समेत पश्चिमी उत्तरप्रदेश के बाकी जिलों के उद्यमियों को अब भुगतान संबंधी समस्या के निवारण के लिए कानपुर फैसिलिटेशन सेंटर चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा. उनके भुगतान संबंधी प्रकरण की सुनवाई इसी मंडल मुख्यालय में ही हो सकेगी.
प्रदेश में मेरठ सहित 18 मंडलों में फैसिलिटेशन सेंटर खोलने की मंजूरी

मेरठ. शासन द्वारा प्रदेश में मेरठ सहित 18 मंडलों में फैसिलिटेशन सेंटर खोलने की मंजूरी दे दी गयी है. इससे उद्यमियों को बहुत राहत मिलेगी और औद्योगिक क्षेत्र रफ्तार भी पकड़ेगा. फैसिलिटेशन सेंटर में सुनवाई के लिए पांच सदस्यीय समिति बनेगी. इसमें अध्यक्ष कमिश्नर रहेंगी व प्रशासन से एक अन्य अधिकारी सचिव रहेंगे. इसके अलावा तीन सदस्य रहेंगे. जिसमें एक आइआइए, दूसरे उद्योग भारती के पदाधिकारी व तीसरे अग्रणी बैंक की ओर से नामित अधिकारी होंगे.

उत्तर प्रदेश में अब तक केवल एक ही फैसिलिटेशन सेंटर कानपुर में था.इससे मेरठ सहित पश्चिमी उत्तरप्रदेश के अन्य जिलों के उद्यमी अपनी समस्या के निस्तारण हेतु कानपुर आते जाते थे. बार दूर शहर में मामलों को निपटाने के लिए चक्कर काटने से उद्यमियों को बहुत परेशानी होती थी. मेरठ सहित अन्य जिलों व मंडलों से औद्योगिक संगठन लघु उद्योग भारती और इंडियन इंडस्ट्रीस एसोसिएशन के जरिये उद्यमियों द्वारा इसकी माँग बहुत पहले से चल रही थी कि फैसिलिटेशन सेंटर कम से कम अपने मंडल में पास ही मौजूद रहे.

मेरठ- नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त कोविड सेंटरों का किया निरीक्षण

सरकार द्वारा 18 मंडलों में सेंटर की स्वीकृति के बाद उद्यमियों को बहुत सहूलियत हो जाएगी और इससे कारोबार पर खासा फर्क भी पड़ेगा. मेरठ में फैसिलिटेशन सेंटर की स्थापना के बाद मेरठ में ही विवादों का निस्तारण हो जाएगा.

आईआईए के राष्ट्रीय अध्यक्ष उद्यमी पंकज गुप्ता ने कहा कि प्रदेश के सभी 18 मंडलों में फैसिलिटेशन खोलने की शासन से मिली स्वीकृति स्वागतयोग्य है. तमाम सेंटर खुलने के बाद उद्यमियों को राहत मिल जाएगी और औद्योगिक इकाइयों के विवाद निपटान में आसानी होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें