कूड़ा निस्तारण के लिए नगर निगम ने खरीदी थी 26 लाख की मशीन, अब खा रही जंग

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 02:02 AM IST
  • मेरठ में लगातार नगर निगम शहर को स्वच्छ करने को लेकर नई-नई तकनीक अपना रहा है. हाल ही में कूड़ा निस्तारण को लेकर नगर निगम ने प्लाज्मा तकनीक का उपयोग किया था. इसको लेकर निगम ने 26 लाख रुपये की मशीन खरीदी गई थी.
फाइल फोटो

मेरठ. मेरठ में लगातार नगर निगम शहर को स्वच्छ करने को लेकर नई-नई तकनीक अपना रहा है. हाल ही में कूड़ा निस्तारण को लेकर नगर निगम ने प्लाज्मा तकनीक का उपयोग किया था. इसको लेकर निगम ने 26 लाख रुपये की मशीन खरीदी गई थी. इन मशीनों का इस्तेमाल बच्चों के पार्क में किया गया था, हालांकि, कुछ दिन चलने के बाद अब ये मशीन जंग खा रही हैं. बता दें, कचरा निस्तारण के लिए प्लाज्मा तकनीक पर आधारित मशीन बच्चा पार्क रैन बसेरा परिसर में स्थापित है. जुलाई 2019 में इसे स्थापित किया गया. 250 किलोग्राम क्षमता की लो टेम्पेचर डिकम्पोजिशन मशीन से 24 घंटे में 200 किलो कूड़े को लगभग छह किलो फ्लाई एश(राख ) में तब्दील करने का नगर निगम अधिकारियों ने दावा किया था.

प्यार में धोखा! प्रेमिका ने प्रेमी को नशा मुक्ति केंद्र में बनाया बंधक, जानें क्यों

इस मशीन को पूर्व नगर आयुक्त मनोज चौहान के कार्यकाल में खरीदा गया था. जुलाई 2019 में शुभारंभ करते समय यह व्यवस्था बनाई गई थी कि सुबह-शाम 100-100 किलो कूड़ा इसमें डाला जाएगा. यह भी दावा किया गया था कि इससे जो राख निकलेगी उससे ईंट बनाई जा सकती है. सड़क और बिल्डिंग निर्माण में प्रयोग किया जा सकता है. यह प्रदेश का पहला प्रयोग बताया गया था. पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे शुरू किया गया. लेकिन एक माह बाद ही प्लाज्मा तकनीक मशीन से कूड़ा निस्तारण की व्यवस्था ठप हो गई. इसके बाद तो इसे नगर निगम भूल ही गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें