निर्जला एकादशी के दिन अगर करेंगे ये काम, तो मिलेगी इतने व्रत का फल

Smart News Team, Last updated: Tue, 15th Jun 2021, 3:20 PM IST
  • हिंदू धर्म में निर्जला एकादशी का बहुत ही ज्यादा महत्व होता है. अगर इस दिन कोई व्रत रखता है तो उसे 24 एकादशी का फल प्राप्त होता है. इस दिन पानी ग्रहण नहीं करना चाहिए.
इस दिन है निर्जला एकादशी

एकादशी तिथि को हिंदू धर्म में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है.एकादशी हर महीने में दो बार पड़ती है. एक बार शुक्ल पक्ष में और दोबारा कृष्ण पक्ष के दौरान. मालूम हो 24 एकादशी एक साल में पड़ती है. भगवान विष्णु को ये तिथि समर्पित रहती है. भगवान विष्णु की पूजा इस दिन लोग बहुत ही विधि-विधान से करते हैं. अगर एकदशी के दिन आप विष्णु जी की पूजा विधि-विधान से करते हैं तो ऐसा कहा जाता है कि सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है. 

ज्योष्ठ माह में शुक्ल पक्ष को जो एकादशी तिथि पड़ती है उसे निर्जला एकादशी कहा जाता है. सबसे अधि महत्व निर्जला एकादशी का ही होता है. 21 जून को इस साल निर्जला एकादशी मनाई जाएगी. निर्जला एकादशी सभी को करनी चाहिए ऐसी धार्मिल मान्यता है, क्योकि इसे करने पर 24 एकादशी का फल प्राप्त होता है. निर्जला एकादशी के दिन जल नहीं पीना चाहिए, अगले दिन पारण करने के बाद ही जल पी सकते हैं. 

ये है एकादशी का मुहूर्त

एकादशी तिथि प्रारम्भ- 2021 जून 20 को 4:21 Pm

एकादशी तिथि समाप्त- 2021 जून 21 को 1:31 pm

(व्रत तोड़ने का समय) - 2021 जून 22 को 5:21 am to 8:12 pm

ब्रह्म मुहूर्त- 4:04 am to 4:44 am

अभिजित मुहूर्त- 11:55 pm to 3:39 pm

विजय मुहूर्त- 2:43 pm to 3:39 pm

गोधूलि मुहूर्त- 7:08 pm to 07:32 pm

अमृत काल -08:43 am to 10:11am

निशिता मुहूर्त- 22 जून को 12:03 am to 22 जून 12:43 am

 

 

 

 

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें