जगन्नाथ रथ यात्रा की हुई आज से शुरूआत, बिना श्रद्धालु इस बार भी हो रहा आयोजन

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Jul 2021, 1:35 PM IST
  • जगन्नाथ रथ यात्रा का हिंदू धर्म में बहुत ही ज्यादा महत्व होता है, इस रथयात्रा का आयोजन उड़ीसा के जगन्नाथ मंदिर से की जाती है. हर साल की तरह इस बार भी 9 दिनों के लिए इस रथ यात्रा का आयोजन किया जाएगा.
जगनाथ रथ यात्रा 2021

हिंदू धर्म में जगन्नाथ रथ यात्रा का बहुत ही ज्यादा महत्व माना जाता है. उड़ीसा के जगन्नाथ मंदिर से इस रथयात्रा का आयोजन किया जाता है. हिंदू पंचांग पर गौर करें तो जगनाथ रथ यात्रा  हर साल आषाढ़ माह में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को निकाला जाता है. भक्तों का इस यात्रा में तांता देखने को मिलता है. हालांकि इस बार भी कोरोना का कहर जारी है, जिसके कारण भक्तों के बिना ही इस बार यात्रा निकाली जा रही है. 

इस बार कोविड-19 के प्रोटोकॉल को पालन करते हुए सिर्फ पुरी में ही उत्सव का आयोजन होगा. कुछ ऐसे चयनित सेवक जो कोविड नेगेटिव होंगे और टीके की दोनों खुलाक ले चुके होंगे वही स्नान पूर्णिमा और अन्य कार्यक्रमों में हिस्सा ले सकेंगे. पिछली बार जो इस रथ यात्रा के दौरान पाबंदियां लगाई गईं थी,वो इस बार भी रहेंगी. टेलीविजन और वेबकास्ट पर श्रद्धालु इन कार्यक्रमों का सीधा प्रसारण देख सकेंगे. 

मंगला गौरी का व्रत सावन में इस दिन से होगा शुरू, ये है सही तिथि

ये यात्र नौ दिन यानी 12 जुलाई से शुरू होगा 20 जुलाई यानी देवशयनी एकादशी को खत्म हो जाएगी. तय किए गए कार्यक्रम के अनुसार ही नौ दिन तक चलने वाली रथ यात्रा में महज 500 सेवक शामिल होंगे जिन्हें रथ खींचने के अनुमति दी जाएगी. भगवान जगन्नाथ को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है. इस रथ यात्रा का आयोजन भगवान जगन्नाथ उनके भाई बालभद्र और बहन देवी सुभद्रा के साथ की जाती है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें