कृष्ण जन्माष्टमी पर इस साल बन रहे हैं ये दुर्लभ संयोग, कर सकते हैं व्रत आरंभ

Smart News Team, Last updated: Thu, 19th Aug 2021, 2:55 PM IST
  • कृष्ण जन्माष्टमी इस साल 30 अगस्त को पड़ रहा है. इस बार जन्माष्टमी पर बेहद ही दुर्लभ संयोग बन रहा है.ऐसे में अगर कोई इस साल व्रत आरंभ करना चाहता तो कर सकता है.
श्री कृष्ण जन्माष्टमी

जन्माष्टमी के दिन इस साल बेहद ही दुर्लभ संयोग बनने वाला है. श्रीमद भागवत पुराण में ऐसी व्याख्या की गई है कि भाद्रपद मास के कृष्ण पक्षी की अष्टमी तिथि को भगवान श्रीकृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र और वृषभ राशि के मध्य रात्रि में हुआ था. इस बार 30 अगस्त को जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा. शास्त्रों पर गौर करें तो रोहिणी नक्षत्र, भाद्र कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि, वृषभ राशि में चंद्रमा इसके साथ सोमवार या बुधवार का होना बहुत ही ज्यादा दुर्लभ संयोग माना जाता है.

 जन्माष्टमी पर इस बार यही योग बन रहा है. हिंदू पंचांग पर गौर करें तो सर्वार्थसिद्धि योग भी इस साल श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर बन रहा है. अष्टमी तिथि सुबह से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन शुरू हो रही है, और रात के 12 बजे तक रहने वाली है. नवमी तिथि 31 अगस्त को देर रात से लग जाएगी. रोहिणी नक्षत्र का दुर्लभ संयोग 30 अगस्त को रहेगा, तो वहीं वृष्भ राशि में चंद्रमा रहेगा. ज्योतिषाचार्यों का ऐसा मानना है कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी इस साल बेहद ही शुभ और खास होगा.

 ऐसी मान्यता है कि भगवान श्रीकृष्ण की पूजा दुर्लभ संयोग में करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है. जो लोग इस साल से व्रत रखना चाहते हैं वो रख सकते हैं. ये साल जन्माष्टमी का व्रत करने वालों के लिए बेहद खास माना जा रहा है. जो लोग व्रत आरंभ कर रहे हैं उनके लिए बेहद खास होने वाला है ये साल. 30 अगस्त को जन्माष्टमी का व्रत रखा जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें