जन्मदिन स्पेशल: मेरठ के भारत रत्न लता मंगेशकर संग्रहालय में ऑनलाइन प्रदर्शनी

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Sep 2020, 2:23 PM IST
संग्रहालय लता मंगेशकर से जुड़े सिक्के और उनके पुराने चित्र आदि का संग्रहण किया गया है. इस संग्रहालय में 36 किताबें ऐसी है जो लता मंगेशकर पर ही लिखी हुई हैं. इसके अलावा ढाई हजार किताबें ऐसी भी हैं जिसमे उनके बार में चर्चा की गई है.
लता मंगेश्कर (फाइल फोटो)

मेरठ. आज लता मंगेशकर का जन्मदिन है. इस मौके पर मेरठ की फूलबाग कॉलोनी में बने हुए उनके नाम से भारत रत्न लता मंगेशकर संग्रहालय में ऑनलाइन प्रदर्शनी का आयोजन करवाया गया है. इस संग्रहालय में ढाई हजार से ज्यादा किताबें है जिसमें उनके बारे बताया गया है. उनसे जुड़े सिक्के और उनके पुराने चित्रों का संग्रहण किया गया है. इस संग्रहालय में 91 वर्षीय लता मंगेशकर से जुड़े साहित्य, उनसे जुड़ी पुस्तकें, गीतों की सीडी उपलब्ध भी हैं. भारत रत्न प्राप्त कर चुकी लता अपनी मधुर आवाज़ के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध हैं. 

संग्रहालय के संस्थापक गौरव शर्मा ने जानकारी दी है कि वे प्रसिद्ध गायिका को आपने गुरु ने तौर पर देखते है उनका प्रयास रहता है की गायिका के संघर्ष को दुनिया के सामने लाया जाए. गौरव शर्मा ने जानकारी दी है इस संग्रहालय में 36 किताबें ऐसी है जो लता मंगेशकर पर ही लिखी हुई हैं. इसके अलावा ढाई हजार किताबें ऐसी भी हैं जिसमे उनके बार में चर्चा की गई है. संग्रहालय में लता मंगेशकर से जुड़े सिक्के को इकट्ठा किया गया है. इसले अलावा उनके पुराने चित्रों, एक हजार सीडी का कलेक्शन भी संग्रहालय में देख सकते हैं. 

CCSU ने बदले 11 एग्‍जाम सेंटर के नाम, बीएड परीक्षाओं के केंद्रों में परिवर्तन

संग्रहालय में रखी सीडी में लता मंगेशकर के पुराने गीतों का कलेक्शन किया गया है. इतना ही नही मेरठ के सरकारी स्कूलों में लता वाटिका बनाई गईं हैं. इन लता वाटिकाओं में लता मंगेश्कर के नाम पर पौधारोपण कार्यक्रम भी चलाया जाता है. संग्रहालय में लता मंगेशकर से जुड़े साहित्य, गीतों की सीडी, उनसे जुड़ी पुस्तकें शामिल हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें