मेरठ: हज के लिए पिछले साल की तुलना में इस साल हुए कम आवेदन, केवल दो दिन बचे

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 04:40 PM IST
  • मेरठ: कोरोना महामारी के कारण 2020 की हज यात्रा टाल दी गई थी. जिसके बाद अब 2021 की यात्रा के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं. बता दें, 7 नवंबर से चल रही इस आवेदन प्रक्रिया के केवर दो ही दिन बचे हैं. केवल 10 तारीख तक 2021 की हज यात्रा के लिए आवेदन किया जा सकता है.
फाइल फोटो

मेरठ: कोरोना महामारी के कारण 2020 की हज यात्रा टाल दी गई थी. जिसके बाद अब 2021 की यात्रा के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं. बता दें, 7 नवंबर से चल रही इस आवेदन प्रक्रिया के केवर दो ही दिन बचे हैं. केवल 10 तारीख तक 2021 की हज यात्रा के लिए आवेदन किया जा सकता है. उसके बाद हज के लिए आवेदन प्रक्रिया बंद कर दी जाएगी. हालांकि, यह देखकर आज बार एजेंसिया भी हैरान है कि सात नवंबर से चल रही ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया में पिछले साल की तुलना मे बहुत ही कम आवेदन हुए हैं.

बता दें, उत्तर प्रदेश में दो दिसंबर तक सिर्फ तीन हजार आवेदन ही हो पाए थे. ये संख्या पिछले साल की तुलना में दस फीसदी हैय इसका कारण हजयात्रा के नियम और शर्तों में बदलाव को बताया जा रहा है. इसके अलावा हजयात्रा की अनुमानित फीस भी है. जो पिछले साल की तुलना में एक लाख रुपये अधिक है. वहीं कोरोना संक्रमण सबसे बड़ी वजह है.

मेरठ : ज्वेलर्स की दुकान में 5 लाख रुपए की चोरी, पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद

वहीं, इसको लेकर हज ट्रेनर हाजी मुख्तार असलम ने बताया कि हजयात्रा 2021 के लिए आवेदकों की संख्या बहुत कम है. दस दिसंबर आवेदन की अंतिम तिथि है. बुधवार और गुरुवार को आवेदन का मौका बचा है. 2021 की हज यात्रा में 18 से कम और 65 से अधिक यानी बुजुर्ग आजमीनों को हज यात्रा पर सऊदी अरब जाने पर पाबंदी लगा दी गई है. इसके साथ ही बगैर महरम के हज पर जाने वाली महिलाओं के लिए 500 सीटें आरक्षित भी की. हज कमेटी ऑफ इंडिया ने इस बार हज खर्च 3 लाख 75 हजार से 5 लाख रुपये आने की उम्मीद जताई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें