Ganesh Jayanti 2022: माघ मास में कब है विनायक चतुर्थी, दो शुभ योग में होगी श्री गणेश पूजा

Pallawi Kumari, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 3:47 PM IST
  • माघ के महीने में श्री गणेश के दो व्रत पड़ने वाला हैं. एक सकट चौथ और दूसरा गणेश जयंती. गणेश जयंती को भगवान गणेश के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है. इस बार 4 फरवरी 2022 को गणेश जयंती या विनायक चतुर्थी पड़ रही है. साथ ही गणेश जयंती पर इस बार दो शुभ योग भी बन रहे हैं.
गणेश जयंती

माघ महीना शुरू हो चुका है. माघ का पावन महीना पूजा-पाठ और व्रत-त्योहार के लिए जाना जाता है. इस महीने भगवान श्री गणेश जी की से जुड़े दो विशेष त्योहान पड़ने वाले हैं. 21 जनवरी को सकट चौथ के दिन भगवान गणेश की पूजा की जाएगी और व्रत रखा जाएगा. इसके बाद 4 फरवरी को विनायक चतुर्थी पर गणेश भगवान के जन्मोत्सव के रूप में गणेश जयंती मनाई जाएगी. माघ मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को हर साल गणेश जयंती मनाई जाती है.

हिंदू धर्म में गणेश जंयती का विशेष महत्व है. इस दिन भगवान गणेश की विशेष पूजा और व्रत रखने का नियम होता है. इस दिन गणेश जी की जन्म कथा सुनी जाती है. आइये जानते हैं इस बार गणेश जयंती पर कौन से शुभ योग पड़ रहे हैं साथ ही जानते हैं पूजा मुहूर्त और इसका महत्व.

तिजोरी में भूलकर भी न रखें ये चीजें, पैसों की तंगी से हो जाएंगे परेशान

गणेश जयंती पूजा मुहूर्त -

गणेश जयंती के दिन पूजा के लिए दोपहर का मुहूर्त उत्तम है. पूजा के लिए कुल 02 घंटे 11 मिनट का समय मिलेगा. 04 फरवरीसुबह 11 बजकर 30 मिनट से दोपहर 01 बजकर 41 मिनट मध्य तक का समय पूजा के लिए शुभ माना जा रहा है. इस दौरान गणेश जन्मोत्सव मनाया जाएगा और भगवान की पूजा की जाएगी. साथ ही शुक्रवार का दिन होने के कारण गणेश जी के साथ मां लक्ष्मी भी की भी पूजा करना शुभ रहेगा.

गणेश जयंती पर दो शुभ योग-

इस बार की विनायक चतुर्थी या गणेश जयंती के मौके पर दो शुभ योग पड़ रहे हैं. इस शुभ योग में ये पर्व मनाया जाएगा. 04 फरवरी को सुबह 07:08 मिनट से दोपहर 03:58 मिनट तक रवि योग है. इसके बाद शाम 07:10 मिनट तक शिव योग रहेगा.

Sakat Chauth 2022: सकट चौथ पर बन रहा सिद्धि योग, जानें चंद्रोदय का समय और पूजा विधि

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें