मंगला गौरी का व्रत सावन में इस दिन से होगा शुरू, ये है सही तिथि

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Jul 2021, 1:05 PM IST
  • भगवान शिव के लिए जैसे सावन का महीना प्रिय होता है, वैसे ही मां गौरी के लिए भी ये महीना अत्यधिक प्रिय होता है. इस महीने में जो महिलाएं मंगला गौरी का व्रत रखती हैं उन्हें अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है.
मंगला गौरी व्रत

सावन का महीना जिस तरह से भगवान शंकर के लिए प्रिय होता है. वैसे ही मां पार्वती को भी सावन के महीने से बेहद लगाव है. ये माना जाता है कि सावन के महीने में जो भी सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा करता है उसे मनचाहा वरदान मिलता है. वहीं जो लोग सावन में पड़ने वाले मंगलवार को मंगला गौरी का व्रत रखते हैं, उन्हें मां पार्वती की कृपा से अखंड़ सौभाग्य की प्राप्ति होती है.

मंगला गौरी व्रत की इस दिन से होगी शुरूआत

हिंदू पंचांग पर गौर करें तो सावन का महीना 25 जुलाई से शुरू होने जा रहा है. 26 जुलाई को सावन का पहला सोमवार पड़ने वाला है. ऐसे में 27 जुलाई को सावन माह की द्वितीया तिथि और मंगलवार पड़ने वाला है. ऐसे में सावन का पहला मंगला मौरी व्रत 27 जुलाई को पड़ने वाला है. अगर आप मां मंगला यानी माता पार्वती की विधि-विधान से सावन के मंगलवार को पूजा करेंगे तो अखंड़ सौभाग्य मिलेगा. 

इस्लामिक कैलेंडर का अंतिम माह आज से शुरू, इस दिन मनेगी बकरीद

सुहागिनें इस व्रत को अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए रखती है. मंगला गौरी का व्रत इस साल सावन में चार बार पड़ने वाला है. 3 अगस्त को दूसरा मंगला गौरी का व्रत रखा जाएगा. 10 अगस्त को तीसरा मंगला गौरी का व्रत रखा जाएगा. तो वहीं आखिरी मंगला गौरी का व्रत 17 अगस्त को रखना होगा. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें