मेरठ में बेहद ही खतरनाक स्थिति में पहुंचा वायु प्रदूषण

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 08:36 PM IST
  • मेरठ: सर्दी के साथ ही शहर में वायु प्रदर्शन भी बढ़ रहा है. मेरठ में एयर क्वालिटी इंडेक्स 2.5 पीएम पर पहुंच गया है, जो बेहद ही खराब स्थिति मानी जाती है. हवा में 400 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर से ज्यादा मात्रा में घुला पीएम 2.5 लंग्स की झिल्लियों को पार कर रक्त में पहुंच रहा है.
मेरठ में बढ़ा प्रदूषण

मेरठ: सर्दी के साथ ही शहर में वायु प्रदूषण भी बढ़ रहा है. मेरठ में एयर क्वालिटी इंडेक्स 2.5 पीएम पर पहुंच गया है, जो बेहद ही खराब स्थिति मानी जाती है. हवा में 400 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर से ज्यादा मात्रा में घुला पीएम 2.5 लंग्स की झिल्लियों को पार कर रक्त में पहुंच रहा है. इस खतरनाक हवा की वजह से लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कतें आ रही हैं.

हवा में बढ़ते प्रदूषण को लेकर विशेषज्ञ डा. अमित अग्रवाल ने बताया कि नवंबर से सांस के मरीजों की दिक्कत बढ़ने लगी हैं. धूल और वायु प्रदूषण की वजह से सांस की एलर्जी, एलर्जिक रानाइटिस, साइनोसाइटिस व सीओपीडी बन रही है, वहीं कई मरीजों के शरीर में ऑक्सीजन की कमी से अटैक पड़ रहा है. दिन में धूप और हलचल की वजह से पार्टीकुलेट मैटर हवा में तैरते रहते हैं, जबकि रात में हवा धीमी पड़ने और ओस से प्रदूषित कण सांस की परत में आ जाते हैं. इससे रात के दौरान आठ घंटे की नींद में व्यक्ति दिन की तुलना में ज्यादा प्रदूषण खींचता है.

गोविंदा को लेकर कपिल शर्मा ने कृष्णा पर मारा ताना, यहां जाने आगे क्या हुआ

बता दें, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट बताती है कि दिन में पीएम 2.5 एवं पीएम10 की मात्रा दो से तीन सौ माइक्रोग्राम, जबकि रात में 500 माइक्रोग्राम तक पहुंच जाती है. नाइट्रोजन, सल्फर, मोनोआक्साइड और सीओटू की सांद्रता भी बढ़ जाती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें