मेरठ: रामलीला, दशहरा और दुर्गा पूजा के आयोजन पर डीएम करेंगे आखिरी फैसल

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Oct 2020, 5:31 PM IST
  • मेरठ जिला प्रशासन ने रामलीला, दशहरा, दुर्गा पूजा और अन्य धार्मिक आयोजनों को अनुमति देने से पहले सभी मजिस्ट्रेट और थाना पुलिस से रिपोर्ट मांगी है. पुलिस की रिपोर्ट आने के बाद भी जिले का डीएम आयोजन करने को लेकर फैसला देंगे
उत्तरप्रदेश में धार्मिक कार्यक्रमों को लेकर गाइडलाइन जारी

 मेरठ: जहां एक तरफ कोरोना अपना कहर बरसा रहा है, वहीं, सभी धार्मिक त्योहार नजदीक आ रहे हैं. ऐसे में प्रशासन पर सभी त्योहारों को सुनियोजित तरीके से पूरा करने का काफी दवाब है. बता दें, उत्तरप्रदेश में धार्मिक कार्यक्रमों को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी गई हैं. इसी बीच मेरठ जिला प्रशासन ने रामलीला, दशहरा, दुर्गा पूजा और अन्य धार्मिक आयोजनों को अनुमति देने से पहले सभी मजिस्ट्रेट और थाना पुलिस से रिपोर्ट मांगी है. रामलीला और दशहरा जैसे आयोजनों में लोगों की भीड़ काफी बढ़ जाती है, ऐसे में प्रशासन बेहद ही सख्ताई दिखा रहा है.

पता भूले बुजुर्ग का सोशल मीडिया के जरिए ढूंढा घर, परिजनों से मिलाया

बता दें, मजिस्ट्रेट और थाना पुलिस की रिपोर्ट तथा प्रत्येक आयोजन स्थल पर भीड़ के मुताबिक उपलब्ध संसाधनों के आधार पर अनुमति जारी की जाएगी. उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को रामलीला मंचन, दशहरा पूजन, दुर्गा पूजा तथा अन्य धार्मिक आयोजनों के संबंध में गाइडलाइन जारी की थी. इसमें कंटेनमेंट जोन को छोड़कर आयोजनों की अनुमति देने का आदेश दिया गया है. प्रदेश शासन ने बंद स्थानों पर अधिकतम 200 लोगों की अनुमति दिए जाने तथा खुले स्थानों पर सुरक्षा उपायों के साथ इससे ज्यादा संख्या में लोगों को अनुमति देने का निर्देश दिया गया है.

वहीं, मेरठ जिलाधिकारी के. बालाजी ने बताया कि सभी एडीएम, एसडीएम, नगर मजिस्ट्रेट, अपर नगर मजिस्ट्रेट और थाना प्रभारियों को उक्त गाइडलाइन भेजकर रिपोर्ट मांगी गई है. रिपोर्ट प्रत्येक आयोजन स्थल का निरीक्षण करके मजिस्ट्रेट और पुलिस तैयार करेगी. जिसके बाद आयोजन की अनुमति दी जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें