मेरठ : साइकिल से पेट्रोलिंग करेंगे बिजलीकर्मी, दूर करेंगे समस्याएं

Smart News Team, Last updated: 01/12/2020 08:59 PM IST
  • घर घर जाकर बिजली कर्मचारी उपभोक्ताओं के जुटाएंगे जानकारी साथ ही भरेंगे केवाईसी बिजली कर्मचारी 5 किलोमीटर तक के दायरे में पेट्रोलिंग करते हुए उपभोक्ताओं की समस्याओं को करेंगे दूर.
(प्रतीकात्मक तस्वीर) साइकिल पेट्रोलिंग करेंगे बिजली कर्मचरी

मेरठ:  बिजली विभाग ने उपभोक्ताओं की समस्याओं को प्रमुखता से लेते हुए उनकी समस्याओं के समाधान के लिए बिजली कर्मचारियों की तैनाती की है.अब बिजली विभाग के कर्मचारी 5 किलोमीटर दायरे में पेट्रोलिंग करते हुए उनकी समस्याओं को दूर करेंगे. इस दौरान साइकिल से पेट्रोलिंग करते हुए बिजली कर्मी उपभोक्ताओं से स्मार्ट मीटर के बारे में फीडबैक लेंगे.

साथ ही उनकी समस्याओं का समाधान भी करेंगे. इस दौरान बिजली कर्मचारी सभी उपभोक्ताओं के फोन नंबर जुटाने के साथ ईकेवाईसी भी भरेंगे.दरअसल यह पहले ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के आदेश पर किया जा रहा है. रविवार को एमडी पीवीवीएनएल अरविंद मल्लप्पा बंगाली ने पश्चिमांचल के सभी 14 जिलों के बिजली अफसरों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं.

एमडी ने बताया कि बिजली कर्मचारी पांच किलोमीटर के दायरे में साइकिल पेट्रोलिंग करेंगे. यह स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए भी बेहतर पहल है. इससे एक ओर जहां शारीरिक गतिविधियां बढ़ेंगी, वहीं वाहनों से निकलने वाला प्रदूषण भी कम होगा.अधिकारियों को एक माह के भीतर सभी स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं का फीडबैक लेकर समस्याएं दूर करने का निर्देश दिया गया है.

उपभोक्ताओं को मोबाइल पर मिलेगी सभी जानकारी

इस योजना के तहत बिजली अधिकारी उपभोक्ताओं के घर जाकर उनसे फीडबैक फॉर्म भरवाएंगे. उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर जुटाकर केवाईसी करेंगे.

इसके बाद मोबाइल पर ही उपभोक्ताओं को मेंटीनेंस, बिलिंग अलर्ट, पेमेंट रिमाइंडर आदि सभी चीज की संपूर्ण जानकारी उन्हें मोबाइल पर मिल सकेगी. इससे उपभोक्ता अपने विद्युत कनेक्शन से संबंधित सभी जानकारियां घर बैठे ही प्राप्त कर सकेंगे.

एम डी ने विद्युत उपभोक्ताओं से की अपील

एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने उपभोक्ता से अपील की है कि समय पर बिल दें. इससे बिजली विभाग का घाटा कम होगा और सस्ती बिजली देने का भी रास्ता साफ होगा.

तीन महीने तक बकायेदारों के यहां डिस्कनेक्शन नहीं करेंगे. उन्हें योजनाओं की जानकारी देंगे और उनसे फीडबैक भी लेंगे.इस तरह उपभोक्ताओं द्वारा समय से फीडबैक दिए जाने व बिजली बिल जमा किए जाने से विद्युत विभाग सुचारू रूप से चल सकेगा. साथ ही किसी भी समस्या का तत्काल निस्तारण हो सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें