मेरठ: सम सेमेस्टर पूरी करने के लिए विश्वविद्यालय ने छात्रों को दिया एक और मौका

Smart News Team, Last updated: 14/08/2020 08:10 AM IST
  • निर्धारित समय से एक वर्ष से ज्यादा में कोर्स पूरा करने वालों के लिए 5000 व 2 वर्ष के लिए 10,000 अतिरिक्त शुल्क. जिन छात्रों की जून में पूरी हो रही समयावधि वे छात्र कर सकते हैं आवेदन. 20 अगस्त तक www.ccsuniversity.ac.in और www.ccsuweb.in पर ऑनलाइन फॉर्म भर सकते.
प्रतीकात्मक तस्वीर

मेरठ। सम सेमेस्टर की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय ने एक और मौका दिया है जिसमें अतिरिक्त शुल्क देकर छात्र अपने कोर्स की पढ़ाई पूरी कर सकेंगे.

सेमेस्टर की परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए विश्वविद्यालय ने यह सुनहरा मौका कोरोना महामारी के चलते दिया है. ऐसे छात्र जो निश्चित समयावधि में अपना कोर्स पूरा नहीं कर सके हैं. उन छात्रों के लिए विश्वविद्यालय ने दोबारा एक मौका दिया है जिसमें समयावधि पूरी होने के बाद भी उन्हें कोर्स पूरा करने के लिए अतिरिक्त समय दिया जा रहा है लेकिन इसके लिए छात्रों को अतिरिक्त शुल्क जमा करना होगा.

जून 2020 तक सम सेमेस्टर में डिग्री पूरी करने की निर्धारित अवधि से एक और दो साल अधिक बिता चुके छात्रों को चौधरी चरण सिंह विवि ने बड़ी राहत दे दी है. विवि में ऐसे छात्र निर्धारित फीस जमा करते हुए अपनी डिग्री पूरी कर सकते हैं. यह नियम कालबाधित (टाइम बार्ड) छात्र-छात्राओं पर लागू होगा.

विवि के अनुसार सेमेस्टर सिस्टम में दो वर्षीय डिग्री को अधिकतम चार वर्ष और तीन वर्ष को छह वर्ष में पूरा किया जा सकता है. चार वर्षीय डिग्री प्रोग्राम में यह सीमा आठ वर्ष है लेकिन अनेक छात्र ऐसे हैं जिनकी यह समय-सीमा इस वर्ष जून में पूरी हो गई, लेकिन वे डिग्री पूरी नहीं कर सके हैं.

ऐसे छात्रों के लिए विश्वविद्यालय ने एक सुनहरा मौका दिया है. विवि के अनुसार ऐसे छात्र जिन्हें निर्धारित समय से एक वर्ष अधिक हुआ है. वे पांच हजार रुपये और जिन्हें दो वर्ष ज्यादा समय हुआ हैं वे दस हजार रुपये अतिरिक्त फीस चुकाते हुए अपनी डिग्री पूरी कर सकते हैं.

कोरोना संक्रमण के चलते विवि ने छात्रों को यह सुविधा दी है. विवि के अनुसार ऐसे छात्र आज से 20 अगस्त तक www.ccsuniversity.ac.in और www.ccsuweb.in पर ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं. यदि कोई दिक्कत है तो छात्र कैंपस स्थित कमेटी सेल से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें