मेरठ में कृष्ण जन्माष्टमी पर जय कन्हैया लाल की जयघोष से गुंजायमान हुआ शहर

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 12:05 AM IST
  • शाम से ही मंदिरों में गूंजने लगे घंटा घड़ियाल मंदिरों मठों और घरों में अंधेरा होने के बाद से शुरू हो गया भजन कीर्तन कार्यक्रम 12 बजते ही शंख की ध्वनि के बीच हुआ भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव भगवान को भोग लगाने के बाद श्रद्धालुओं में वितरित किया गया प्रसाद
कृष्ण जन्माष्टमी

मेरठ। श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर मेरठ शहर में उत्सव जैसा माहौल दिखा. हर तरफ फूलों की खुशबू व लाइटों से शहर गुलजार नजर आया.

अंधेरा होने के बाद ही मंदिरों, मठों व घरों में भजन की धुन सुनाई पड़ने लगी. घरों में परिवारजनों के साथ बैठकर लोग झांकियों को सजाने लगे. झांकियों को सजाने के बाद भजन कीर्तन का दौर शुरू हो गया.

इस दौरान मंदिरों व घरों में लोगों ने विभिन्न प्रकार के प्रसाद व व्यंजन तैयार किये. इसके बाद से भगवान श्री कृष्ण व राधा जी का गुणगान करने लगे. रात 12 बजते शंख की ध्वनि के साथ भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ.

जन्म होते ही पूरा शहर शंख की ध्वनि से गुंजायमान हो उठा. हर तरफ जय कन्हैया लाल की हाथी घोड़ा पालकी के जयघोष सुनाई पड़ने लगे.

इसके बाद घरों व मंदिरों में श्रद्धालुओं ने सोहर गीत भी गाए. श्रद्धालुओं द्वारा घरो व मंदिरों में तैयार किए गए व्यंजनों व प्रसादों का भगवान को भोग लगाया गया.

अंत में भगवान श्रीकृष्ण की आरती हुई. इसके बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें