मंदिर आंदोलन से जुड़े भक्तों का सपना पूरा, मेरठ के अरुण वशिष्ठ को भी जाना था जेल

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 09:48 PM IST
  • देश मे राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रहे आंदोलन में मेरठ के रहने वाले व्यापारी व आरएसएस नेता अरुण वशिष्ठ को भी जेल जाना पड़ा था। इस दौरान व 22 दिन मुजफ्फरनगर जेल और 24 दिन मेरठ जेल में बंद रह थे।
राम मंदिर आंदोलन

मेरठ। अयोध्या में आज राम मंदिर निर्माण के लिए हो रहे भूमि पूजन के चलते वर्षों पुराना उन रामभक्तों का सपना साकार होने जा रहा हैं। जिन्होने राम मंदिर आंदोलन की लड़ाई में संघर्ष किया था। जिसके लिए उन्हें जेल तक जाना पड़ा था। ऐसे ही एक रामभक्त हैं शहर के प्रमुख व्यापारी और आरएसएस से लंबे समय से जुड़े अरुण वशिष्ठ। और जिस वक्त 1989 और 1992 में राम मंदिर आंदोलन जोर पर था। अब अरुण वशिष्ठ को जेल भी जाना पड़ा था।

अयोध्या जाते वक्त पुलिस ने कर लिया था गिरफ्तार, 22 दिन रहना पड़ा था जेल

आरएसएस नेता अरुण वशिष्ठ के मुताबिक जिस वक्त देश मे राम मंदिर निर्माण को लेकर आंदोलन जोरों पर था। उस वक्त मेरठ से एक जत्था अयोध्या के लिए रवाना हुआ था। जिसमे अरुण वशिष्ठ भी शामिल थे। लेकिन उन्हें मुजफ्फरनगर जिले में पुलिस द्वारा रोक लिया गया था।और 22 दिनों तक उन्हें मुजफ्फरनगर जेल में रखा गया था। वही जिस कारसेवकों द्वारा विवादित ढांचे का विध्वंस कर दिया था। जिसके बाद सात सितंबर को उन्हें पुलिस द्वारा उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया। जब वह अपनी दुकान पर मौजूद थे। और इस बार उन्हें मेरठ जेल में रखा गया। जहां उन्हें 24 दिनों तक जेल में रहना पड़ा था। इसके बाद अरुण वशिष्ठ ने प्रशासन से अपील की है कि आज लोगों का सपना साकार होने जा रहा है। ऐसे में उन्हें खुशी का इजहार करने से ना रोका जाए।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें