मेरठ: नगर निगम का कूड़े से बिजली बनाने का सपना अब जल्द होगा साकार

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 06:41 PM IST
  • मेरठ पुलिस के हाथ हाल ही में बड़ी कामयाबी लगी है. दरअसल, नगर निगम का लगभग एक साल पहले कूड़े से बिजली बनाने का देखा गया सपना अब जल्द ही साकार होने वाला है.
कूड़े से बिजली बनाने का देखा गया सपना अब जल्द ही साकार होने वाला

मेरठ. मेरठ पुलिस के हाथ हाल ही में बड़ी कामयाबी लगी है. दरअसल, नगर निगम का लगभग एक साल पहले कूड़े से बिजली बनाने का देखा गया सपना अब जल्द ही साकार होने वाला है. पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम की टीम संयंत्र से ग्रिड पर बिजली लेने के लिए सब स्टेशन के निर्माण में युद्ध स्तर पर जुटी है.

वहीं कुछ ही दिनों पहले एनजीटी द्वारा गठित ओवरसाइट कमेटी ने गांवड़ी कूड़ा प्लांट से संबंधित याचिका पर जो रिपोर्ट दी है, उसमें ब्रिजेंद्रा एनर्जी एंड रिचर्स कंपनी के कूड़े से बिजली बनाने के संयंत्र का हवाला देते हुए कहा है कि प्रदेश में ऐसे ही और भी संयंत्र लगाने की आवश्यकता है.

मेरठ: पुलिस को बड़ी सफलता, गांजे के साथ 4 आरोपी गिरफ्तार

बता दें मेरठ के भूड़बराल के समीप ब्रिजेंद्रा एंड रिसर्च कंपनी का वेस्ट टू एनर्जी संयंत्र स्थापित किया गया है. जहां पर आरडीएफ(कूड़े से निकले ज्वलनशील कचरा जैसे प्लास्टिक, पालीथिन, कपड़ा कागज आदि) से बिजली उत्पादन के लिये संयंत्र को ग्रिड से जोड़ने का काम अब अंतिम चरणों में है. संयंत्र को ग्रिड से जोड़ने के लिए पीवीवीएनएल के प्रबंध निदेशक अरविंद मलप्पा बंगारी और कंपनी के निदेशक बिजेंद्र सिंह के बीच नौ दिसंबर को बैठक हुई थी. इससे पहले नगर आयुक्त मनीष बंसल ने पीवीवीएनएल प्रबंध निदेशक से संयंत्र को ग्रिड से जल्द जोड़ने की चर्चा की थी.जिसके बाद पीवीवीएनएल के बिजली अधिकारियों की टीम संयंत्र को ग्रिड से जोड़ने के काम में युद्ध स्तर पर लगी हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें