कब और क्यों मनाया जाता है सेंट थॉमस दिवस, यहां पढ़े

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Jul 2021, 5:52 PM IST
  •  हर साल सेंट थॉमस डे 3 जुलाई को मनाया जाता है. इस साल ये शुक्रवार को पड़ा है. ऐसे में बहुत लोगों को अभी ये नहीं पता कि आखिर ये सेंट थॉमस डे क्यों मनाया जाता है. तो आइए जानते हैं.
सेंट थॉमस डे

सेंट थॉमस डे हर साल तीन जुलाई को मनाते हैं. थॉमस अपोस्टर को ये दिन समर्पित होता है. जिसे डिडीमस भी कहा जाता है. एक रिपोर्ट के अनुसार यीशु के बारह प्रेरितों में से एक थॉमस को माना जाता है. हालांकि यीशु के पुनरुत्थान पर जब से उसने संदेह किया, तबसे उसे डाउटिंग थॉमस के नाम से जाना जाने लगा.  यीशु के क्रूस को देखने के बाद फिर भी ये अंतिम रूप से फिर भी लंबा नहीं हुआ और अपने धर्म को उसने स्वीकारा और कहा- मेरे भगवान और मेरे प्रभु. 

ये भी कहा जाता है कि थॉमस को यीशु ने अपने बारह शिष्यों में से एक माना. विभिन्न शास्त्रों पर गौर करें तो भारत के साथ पूर्व में संत थॉमस ने सुसमाचार को प्रकट किया था. उनमकी पहचान दक्षिण पश्चिम क्षेत्र आंशिक रूप से केरल में  में ईसाईयों के संस्थापक पिता के रूप में रही है. ये भी दावा किया जा चुका है कि भारत को पहला बिशप बनाने वाले तीन राजाओं को भी थॉमस ने बपतिस्मा दिया. 

आखिर क्यों मनाया जाता है सेंट थॉमस दिवस 

सेंट थॉमस डे तीन जुलाई को सेलिब्रेट किया जाता है, और इस सेलिब्रेशन का क्रेडिट सेंट थॉमस द एपोस्टल को देते हैं. सबसे पहले तो ये शीतकालीन संक्रांति यानी 21 दिसंबर को मनाया जाता था. तो वहीं 3 जुलाई को रोमन कैथोलिक चर्च ने सेंट थॉमस डे मनाया, जबकि 6 अक्टूबर को ग्रीक ऑर्थोडॉक्स चर्च संत की दावत मनाता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें